महेन्दरगढ़ के गांव डेरोली अहीर में एक ऐसा शख्स है जिसके आगे मौसम भी नतमस्तक है. डेरोली गांव का रहना वाला संतलाल किसी अजूबे से कम नहीं है. संतलाल पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बना हुआ है. दलित परिवार में जन्मे 58 वर्षीय संतलाल को कोई बीमारी नहीं है, उसे अब तक कोई बीमारी हुई ही नहीं है. शोधकर्ता भी उसके सामने फ़ेल हो चुके हैं.


गर्मी में 4 से 5 रजाईयां ओढ़े रहता है ये शख्स

शुक्रवार को जिले का तापमान 45 डिग्री से ऊपर है और हमें शरीर पर कपड़ा तक अच्छा नहीं लगता, ऐसे में ये शख्स 4 से 5 रजाईयां अपने शरीर पर ओढ़ कर रखता है. इसके साथ ही जब उसको और ठण्ड लग रही होती है तो वो आग जलाकर सेकता भी है.गर्मी में लगती है सर्दी, तो सर्दी में लगती है गर्मी

जून के इस मौसम में जहां आम इंसान के पसीने छूट जाते हैं. वहीं संतलाल है कि उसे पसीने की एक बून्द तक भी नहीं आती है. संतलाल ऐसा अजूबा है कि उसे सर्दी के मौसम में तो गर्मी लगती है और गर्मी के मौसम में सर्दी.


सर्दी के मौसम में बर्फ की सिल्ली पर लेटता है संतलाल

इस शख्स के आगे मौसम भी हार मान लेता है. लेकिन सोचिए जब हाड़ कंपा देने वाली ठण्ड होती है, उस वक्त यह शख्स बर्फ की सिल्ली पर लेटता है. सुबह 5 बजे उठकर तालाब में स्नान करता है और सारा दिन वह पानी में ही रहता है.संतलाल को नहीं है कोई बीमारी

संतलाल ने बताया कि वह बचपन से ही ऐसा है. उसको कभी कोई बीमारी नहीं हुई. संतलाल की बहू ने बताया कि संतलाल को जिला प्रशासन भी सम्मानित कर चुका है और उसकी मदद भी की है. बाहर से चिकित्सकों की टीम ने भी आकर उसकी जांच की. लेकिन सांच को आंच नहीं वाली कहावत सिद्ध हुई.  संतलाल आगे बताते हैं कि उसने बर्फ पर सबसे ज्यादा लेटने वाले व्यक्ति का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है. इस शख्स को लोग नाम से कम बल्कि मौसम विभाग के नाम से ज्यादा जानते है.


क्या है डॉक्टरों का कहना  

डिप्टी सीएमओ अशोक कुमार ने कहा कि संतलाल में कोई बीमारी नहीं है. उसके साथ जो भी हो रहा है वह सिर्फ और सिर्फ कुदरत की ही देन है. उन्होंने बताया कि वह निजी तौर पर संतलाल को जानते हैं. वह हर साल अस्पताल में आता है और उसको कोई बीमारी नहीं है.