इंदौर। अखिल भारतीय श्वेतांबर जैन महासंघ द्वारा आयोजित पांच दिवसीय जैन संस्कार सृजन शिविर के समापन पर पलासिया में हुआ। इसमें 60 कॉलोनियों के 7 से 16 साल के 550 नागरिकों ने पानी बचाने का संकल्प लिया। सभी ने एक स्वर में कहा कि अब घर आए मेहमानों को पहले आधा गिलास पानी ही परोसेंगे, जितनी जरूरत है उसका ही इस्तेमाल करेंगे। घर में परिवार के अन्य लोगों को भी इसके लिए समझाएंगे।


पदाधिकारियों ने कहा कि भगवान महावीर ने पानी की हर बूंद में असंख्य जीव बताए हैं। हम शपथ लेते हैं कि पानी व्यर्थ नहीं बहाएंगे, जितनी जरूरत है उतना ही पानी का इस्तेमाल करेंगे। शिविर में 12 बसों से आए जैन कॉलोनी, उषानगर, गुमाश्तानगर, पलासिया, शांति नगर, जैन कॉलोनी, अनुप नगर, राजवाड़ा, नेमिनगर सहित जैन बहुल क्षेत्र के शिविरार्थी थे। इस मौके पर शीतलमुनि महाराज, महासंघ के अध्यक्ष चंदनमल चौरडिया, योगेंद्र सांड, कुलपति नरेंद्र धाकड़, कीर्ति शाह, राजेंद्र जैन, विमल तांतेड आदि मौजूद थे।