ग्वालियर के जनक गंज इलाके में हुई एक युवक की मौत को पुलिस जहां उसे एक महज हादसा मानकर चल रही थी,दरअसल वह हत्या का मामला निकला.इस मामले में पुलिस ने मृतक हरि सिंह के दोस्त निहाल सिंह को गिरफ्तार किया है. हरि सिंह के इस दोस्त ने मामूली रकम के लिए उसके साथ यह घात किया. लेकिन कहते  हैं ना कि अपराधी कितना ही चालाक हो, वह कोई ना कोई ऐसी गलती कर ही जाता है कि कानून के शिकंजे में फंस ही जाता है. हत्या के बाद गाय़ब होने की गलती कर हत्यारोपी निहाल सिंह आखिरकार दबोच लिया गया.


पता चला है कि निहाल सिंह और हरि सिंह दोनों ही मजदूरी करते थे. एक दिन पांच सौ रुपये के लेनदेन के विवाद में दोनों में कहासुनी हो गई. 6 मई को उन्होंने पहले शराब पी और फिर बातें करते हुए कमानी पुल की तरफ चले गए तभी निहाल सिंह ने हरी सिंह को पुल से नीचे धकेल दिया. करीब 12 फीट नीचे सर के बल गिरने के कारण हरि सिंह की मौत हो गई. पुलिस ने अपनी केस डायरी में इसे हादसा मान कर चल रही थी. लेकिन बाद में पता चला कि हरि सिंह के साथ उसका दोस्त निहाल भी था जो घटना के बाद से गायब था. इसी बात के आधार पर जब निहाल सिंह को जनक गंज पुलिस ने गिरफ्तार किया तो उसने पूरी सच्चाई उगल दी और इस हत्याकांड से पर्दा उठा दिया. जनक गंज पुलिस ने निहाल सिंह के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.