ग्वालियर। आईपीएल में मुम्बई से लाइन लेकर सट्टा खिला रहे झांसी के एक बुकी को क्राइम ब्रांच की टीम ने सिटी सेंटर स्थित क्यू कैफे रेस्टोरेंट के ऊपर फ्लैट से पकड़ा है। मौके से 29,950 रुपए नकद व 70 लाख रुपए के हिसाब के अलावा 4 लैपटॉप, 14 मोबाइल बरामद किए हैं, जबकि मास्टरमाइंड दतिया का शातिर सट्टा किंग अमित साहू फरार हो गया। क्राइम ब्रांच ने आरोपी के खिलाफ सट्टा अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।


एएसपी क्राइम ब्रांच पंकज पांडेय ने बताया कि एसपी से शहर में चल रहे सट्टा कारोबार पर अंकुश लगाने के निर्देश मिले थे। जिसके बाद क्राइम ब्रांच की टीम लगातार मुखबिरों के टच में थी। मंगलवार रात 8 बजे सूचना मिली कि आईपीएल के फर्स्ट क्वालीफायर मैच चेन्नई सुपर किंग और सनराइजर हैदराबाद के बीच खेला जा रहा है। इस मैच में शहर के कुछ लोग लाखों का दांव लगा रहे हैं।


यह पूरा खेल सिटी सेंटर स्थित क्यू कैफे रेस्टोरेंट के ऊपर फ्लैट नंबर 2 में चल रहा है। जिस पर क्राइम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी की और रात 8.30 बजे दबिश दी। जैसे ही फ्लैट का गेट खोला तो दो युवक उसमें दिखे, लेकिन पुलिस को देखकर एक कुछ सामान उठाकर भाग गया। जबकि दूसरा मोबाइल में व्यस्त था जिसे क्राइम ब्रांच ने पकड़ लिया।


आरोपी मोबाइल पर सेशन फिक्स कर रहा था। पुसिस ने रूम से 4 लैपटॉप, 14 मोबाइल, 29950 रुपए नकद, 70 लाख रुपए का हिसाब बरामद किया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान झांसी के हीरापुरा निवासी अंशु विश्वकर्मा के रूप में हुई है। उसने बताया कि उसे बुकी अमित सेठ उर्फ अमित साहू निवासी दतिया लेकर आया था। फ्लैट भी अमित ने ही किराए पर लिया था। यहां आईपीएल के सीजन में ही आए थे। पुलिस पता लगा रही है कि आरोपी अमित कहां है। साथ ही किराए पर कमरा लेने की जानकारी पुलिस को दी थी या नहीं।


कई लोगों के मोबाइल नंबर मिले हैं -


एएसपी क्राइम ने बताया कि बुकी मुम्बई से एकमुश्त रकम जमा कर लाइन लेकर सट्टा खिला रहा था। फ्लैट से मिले लैपटॉप और मोबाइल में कई लोगों के नाम नंबर मिले हैं। इनको विवेचना में लेकर सट्टा खेलने वालों तक पहुंचा जा रहा है।