कोलकाता आईपीएल सीजन 11 के एलिमिनेटर मुकाबले में मेजबान कोलकाता नाइट राइडर्स ने राजस्थान रॉयल्स को 25 रन से शिकस्त देकर नॉकऑउट कर दिया है. अब कोलकाता नाइट राइडर्स का अगला मुकाबला क्वालिफायर-2 में सनराइजर्स हैदराबाद से 25 मई को इसी मैदान पर होगा.


कोलकाता के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले गए एलिमिनेटर मुकाबले में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने 20 ओवर में 7 विकेट गंवा कर 169 रन बनाए और राजस्थान रॉयल्स को 170 रनों का लक्ष्य दिया. जवाब में राजस्थान रॉयल्स 20 ओवर में 144 रन ही बना पाई और यह मैच गंवा बैठी.


राजस्थान के लिए संजू सैमसन ने सबसे ज्यादा 50 रन बनाए जिसके लिए उन्होंने 38 गेंदों का सामना किया और चार चौकों के अलावा दो छक्के लगाए. कप्तान अंजिक्य रहाणे ने 46 रन बनाए.

कोलकाता ने राजस्थान को दिया 170 रनों का टारगेट


टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने 20 ओवर में 7 विकेट गंवा कर 169 रन बनाए और राजस्थान रॉयल्स को 170 रनों का लक्ष्य दिया.


राजस्थान को इस स्कोर तक पहुंचाने में आंद्रे रसेल का बड़ा योगदान रहा. उन्होंने अंत में आकर 25 गेंदों में नाबाद 49 रनों की पारी खेली जिसमें तीन चौके और पांच छक्के शामिल हैं.


कोलकाता के लिए सबसे ज्यादा रन कप्तान दिनेश कार्तिक ने बनाए. उन्होंने 38 गेंदों में चार चौके और दो छक्कों की मदद से 52 रनों की पारी खेली. शुभमन गिल ने 28 रन बनाए.


कप्तान दिनेश कार्तिक ने तब क्रीज पर कदम रखा जब स्कोर तीन विकेट पर 24 रन था. उन्होंने 38 गेंदों पर चार चौकों और दो छक्कों की मदद से 52 रन बनाए.

रसेल ने डेथ ओवरों में फिर से लंबे शॉट खेले तथा 25 गेंदों पर नाबाद 49 रन बनाए, जिसमें तीन चौके और पांच छक्के शामिल हैं. इन दोनों के अलावा शुभमान गिल ने 28 रन का योगदान दिया. केकेआर ने अंतिम छह ओवरों में 85 रन बटोरे.


ईडन गार्डन्स की पिच पर नमी और उछाल थी और इसके अलावा केकेआर के बल्लेबाजों ने जल्दबाजी दिखाई. यही वजह थी कि पहले चार ओवर में उसके तीन बल्लेबाज सुनील नरेन (4), रोबिन उथप्पा (3) और नीतीश राणा (3) पवेलियन में विराजमान थे.

ऑफ स्पिनर गौतम ने अपनी चतुराई भरी गेंदबाजी से सुनील नरेन को दूसरी गेंद स्टंप आउट कराया. इसके बाद उन्होंने उथप्पा का अपनी ही गेंद पर कैच लिया जबकि आर्चर ने राणा को गलत टाइमिंग से शॉट खेलने का मजा चखाया.


कार्तिक पर बड़ी जिम्मेदारी थी. उन्होंने अच्छी शुरुआत की जिससे पावरप्ले तक टीम 46 रन तक पहुंचने में सफल रही, हालांकि यह केकेआर का इस सत्र में पहले छह ओवरों का न्यूनतम स्कोर है.


क्रिस लिन (22 गेंदों पर 18 रन) ने आठ ओवर तक एक छोर संभाले रखा, लेकिन श्रेयस गोपाल की गुगली उनके समझ से परे थी जिस पर उन्होंने गेंदबाज को कैच का अभ्यास कराया.


अजिंक्य रहाणे ने दोनों छोर से कलाई के स्पिनरों गोपाल (चार ओवर में 34 रन, एक विकेट) और ईश सोढ़ी (चार ओवर में 15 रन) को लगाया जिन्होंने रन गति पर अंकुश लगाए रखा.


ऐसे जब 14 ओवर के बाद स्कोर चार विकेट पर 84 रन था तब गिल और कार्तिक ने गोपाल के अगले ओवर में 20 रन जुटाकर रन गति तेज की. आर्चर ने हालांकि अगले ओवर में गिल को विकेट के पीछे कैच करा दिया.


कार्तिक ने जयदेव उनादकट पर छक्का जड़कर 35 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया, लेकिन अगले ओवर में उन्होंने हवा में कैच लहरा दिया.


आर्चर पर छक्के से खाता खोलने वाले रसेल को सोढ़ी ने परेशान किया लेकिन मध्यम गति के गेंदबाजों के सामने वह खुलकर खेले. जयदेव उनादकट, लॉफलिन और आर्चर के खिलाफ उन्होंने अपनी पावर हिटिंग को शानदार नमूना पेश किया. राजस्थान के लिए कृष्णप्पा गौतम, जोफरा आर्चर, बेन लाफलिन ने दो-दो विकेट लिए. श्रेयस गोपाल को एक सफलता मिली.

राजस्थान ने टॉस जीतकर KKR को दी पहले बैटिंग


इससे पहले राजस्थान रॉयल्स ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया है और कोलकाता नाइट राइडर्स को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया है. दोनों ही टीमों की प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं हुआ है.


इस एलिमिनेटर मैच में जीतने वाली टीम क्वालिफायर-2 में क्वालिफायर-1 से हारने वाली टीम से मुकाबला करेगी और इसे जीतने वाली टीम फाइनल में पहुंचेगी.


कोलकाता और राजस्थान आईपीएल में अब तक 15 बार आमने-सामने हो चुके हैं, जिसमें आठ बार कोलकाता ने और सात बार राजस्थान ने जीत दर्ज की है.


ईडन गार्डन्स मैदान पर दोनों टीमें अब तक छह बार एक-दूसरे के खिलाफ मुकाबले में उतरी हैं, जिसमें से पांच बार कोलकाता ने और केवल एक बार राजस्थान ने बाजी मारी है जो उसने 2008 में जीती थी.


प्लेइंग इलेवन:


कोलकाता नाइट राइडर्स: क्रिस लिन, सुनील नरेन, रॉबिन उथप्पा, दिनेश कार्तिक, नीतीश राणा, आंद्रे रसेल, शुभमान गिल, जेवॉन सियरलेस, पीयूष चावला, प्रसिद्ध कृष्ण, कुलदीप यादव.


राजस्थान रॉयल्स: राहुल त्रिपाठी, अजिंक्य रहाणे, संजू सैमसन, हेनरिक क्लासन, कृष्णप्पा गोतम, स्टुअर्ट बिन्नी, जोफरा आर्चर, ईश सोढ़ी, जयदेव उनादकट, श्रेयस गोपाल, बेन लॉफलिन.