पिछले कुछ वर्षों से देश-विदेश में चीनी वास्तुशास्त्र का प्रचलन बहुत बढ़ता जा रहा है। फेंगशुई शब्द दो चीनी शब्दों के जोड़ से बना है जिनका अर्थ है वायु व जल। अर्थात वायु तथा जल से संबंधित वस्तुएं से घर आदि में सुख-समृद्धि लायी जा सकती है। फेंगशुई के अनुसार व्यक्ति के आस-पास यदि वातावरण सकारात्मक ऊर्जा वाला हो तो उसके जीवन में अपार खुशियां आती हैं। यदि व्यक्ति फेंगशुई के नियमों का पालन करता है तो उसके पास हर समय सकारात्मक ऊर्जा रहती है और नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है। चीनी वास्तु शास्त्र फेंगशुई के अनुसार घर में धातु का कछुआ रखना बहुत ही शुभ माना जाता है। वहीं हिंदू धर्म की मानें तो कुछुए को नारायण यानि श्री हरि का रूप माना जाता है। इस मान्यता के अनुसार जिस भी घर में कछुआ होता है उस घर में भी सदैव लक्ष्मी का वास होता है। ये घर की सुख-समृद्धि को बढ़ाने के साथ-साथ घर के मुखिया कि आयु को भी बढ़ाने का काम करता है। लेकिन यदि इसे गलत दिशा में रख दिया जाए तो ये शुभ की बजाए अशुभ परिणाम देने लगते हैं। 

यदि इसे घर के नॉर्थ सेंटर में रखा जाए तो यह परिवार के मुखिया की आयु बढ़ाता है। 

वहीं यदि इसे अपने घर के प्रवेश मार्ग पर रखा जाए तो इससे घर में शांति बनी रहती है। मुख्य दरवाज़े पर रखने से घर में नकारात्मक ऊर्जा नहीं आती।

पूर्व दिशा में रखने से घर के सदस्य स्वस्थ रहते हैं, व सभी की सेहत अच्छी रहती है। दक्षिण-पूर्व में रखने से घर में पैसे की तंगी खत्म होती है।

धन प्राप्ति- धन संबंधी परेशानी दबर करने के लिए घर-आॅफ़िस में क्रिस्टल वाला कछुआ रखना लाभकारी माना जाता है।

बीमारियों से मुक्ति- घर में कछुआ रखने से परिवार के मुखिया की उम्र लंबी होती है। यदि घर में आए दिन किसी न किसी तरह की बीमारियां होती रहती हो तो घर में मिट्टी का बना कछुआ रखना सबसे अच्छा माना जाता है।

नौकरी-परीक्षा में सफलता- नौकरी में प्रमोशन पाने के लिए और परीक्षा में सफलता पाने के लिए पीतल का बना कछुआ सफलता पाने में मदद करता। 

गृह क्लेश खत्म- यदि घर के सदस्यों में आए दिन लड़ाई-झगडे होते रहते हैं तो घर में 2 कछुओं का जोड़ा रखना चाहिए। ऐसा करने से घर के सदस्यों के बीच चल रहे आपसी मदभेद दूर होते है और प्यार बढ़ता।

व्यापार संबंधित परेशानियां- बिज़नेस या ऑफिस में लगातार हो रहे घाटे से परेशान हो तो मेटल का कछुआ रखना चाहिए। साथ ही यदि कोई नया व्यापार शुरू करते समय दुकान या ऑफिस में चांदी का कछुआ रखना भी बहुत शुभ माना जाता है। 

संतान प्राप्ति- जिस घर में संतान न हो या जो दंपत्ति संतान सुख से वंचित हों एेसा कछुआ  रखना चाहिए जिसकी पीठ पर बच्चे कछुए भी हों।