जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी कर्नाटक के अगले सीएम होंगे. कांग्रेस के समर्थन से वे सरकार बनाने जा रहे हैं. कई बार उन्होंने करप्शन का खुलासा करने का दावा किया है, लेकिन कई बार वे करप्शन से जुड़े विवादास्पद बयान भी देते रहे हैं. एक बार उन्होंने कह दिया था- 'अगर आज महात्मा गांधी जिंदा होते, वे अपनी राजनीतिक पार्टी चलाने के लिए भ्रष्ट हो चुके होते, अगर वे ऐसा नहीं करते तो उन्हें राजनीति छोड़ना पड़ता.' कुमारस्वामी ने अप्रैल 2011 में कहा था- 'यह बिल्कुल झूठ है, जब आप कहते हैं कि आप अपने घर के पैसे से पार्टी चला सकते हैं. अगर कोई कहता है कि वह राजनीति में है और करप्ट नहीं है तो वह झूठ बोल रहा है.'

कुमारस्वामी के बयान से पार्टी वर्कर्स को झटका लगा था. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा था कि करप्शन को हटाने के लिए देश को आजादी की लड़ाई से बड़े आंदोलन की जरूरत है.

हालांकि, कुमारस्वामी पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे. जब वे सीएम थे तब उन पर 150 करोड़ घूस लेने का आरोप लगाया गया था.

हालांकि, महात्मा गांधी पर बोलते हुए उन्होंने कहा था कि मैं खुलकर बात कर रहा हूं. मैं नहीं जानता कि लोग इसे कैसे लेंगे. उन्होंने कहा था कि सिर्फ भाषणों से आज चुनाव नहीं जीता जा सकता. आज महात्मा गांधी के लिए भी इस सिस्टम को बदलना मुश्किल होता.

कुमारस्वामी ने कहा था कि एक भी राजनेता बिना डोनेशन के सर्वाइव नहीं कर सकता. लोग भी आज करप्ट हो गए हैं, वे सीधे पूछते हैं कि कैंडिडेट वोट के लिए कितना देगा.

जब कुमारस्वामी से पूछा गया था कि क्या वे कभी पार्टी चलाने के लिए भ्रष्टाचार में शामिल हुए. उन्होंने कहा था कि सिर्फ अपनी पार्टी के लिए डोनेशन 'इकट्ठा' किया है.

कुमारस्वामी ने ये भी कहा था कि मैं ये दावा नहीं कर सकता कि मैं सत्यवादी हरिश्चंद्र हूं. लेकिन ये देखने वाली बात होगी कि लोग सच को कैसे लेते हैं.

आपको बता दें कि कर्नाटक में अब जेडीएस-कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है. इस गठबंधन को राज्यपाल वजुभाई वाला ने सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया है.

बुधवार को कुमारस्वामी राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.