मुंबई बेस्ड सेक्सॉल्जिस्ट डॉ अमित अग्रवाल कहते हैं, अगर आपका मन और आपके विचार सेक्स से जुड़े ऐक्ट के बारे में फोकस्ड हो तो न सिर्फ आप सेक्शुअली उत्तेजित हो जाते हैं बल्कि ऐक्ट के दौरान आपकी परफॉर्मेंस भी बेहतर हो जाती है। यह कुछ भी हो सकता है जैसे- किसी कामोत्तेजक नॉवल का कोई सीन या पॉर्न फिल्म का कोई सीन या फिर अब तक के अपने बेस्ट सेक्शुअल एक्सपीरियंस की याद... हर बार एक ही चीज के बारे में सोचना संभव नहीं है लिहाजा अपने विचारों में वरायटी लाएं सेक्सुअल ऐक्ट को दोनों पार्टनर के लिए बेहतरीन बनाएं...

अगर आप सेक्स से पहले किसी पॉर्न फिल्म का कोई सीन जो आपको सेक्शुअली उत्तेजित करता हो, की कल्पना करें तो निश्चित रूप से आपका सेक्शुअल ऐक्ट और मजेदार हो जाएगा। इससे न सिर्फ आपके सेक्शुअल सेंसेज वाइल्ड हो जाएंगे बल्कि आपकी परफॉर्मेंस भी और ज्यादा इंटेस हो जाएगी।

किसी मूवी सीन के अलावा खजुराहो आर्ट में भी इस बात की ताकत है कि वह किसी के भी मन में सेक्स से जुड़ी भावनाएं उत्पन्न कर सकता है। खजुराहो की दीवारों पर बनी सेक्शुअली उत्तेजित करने वाली तस्वीरें और अलग-अलग सेक्स पोजिशन्स के बारे में सोचकर ही किसी की भी कामेच्छा बढ़ जाएगी।

सेक्स में क्लाइमैक्स तक पहुंचना एक बात है लेकिन सेक्स के दौरान क्लाइमैक्स और ऑर्गैज्म के बारे में सोचना किसी के लिए ललचाने वाला हो सकता है। बेड में पार्टनर संग ऐक्ट करते हुए अगर आप ऑर्गैज्म के बारे में सोचते हैं ति इससे ऐक्ट के प्रति आपका जोश और उत्तेजना बढ़ जाती है।

अपनी सेक्शुअल फैन्टसी यानी आप सेक्स के दौरान क्या चाहते हैं, क्या सोचते हैं, क्या कल्पना करते हैं, इसके बारे में अगर पार्टनर से बातें शेयर की जाएं तो इससे भी आपका यौन सुख कई गुना बढ़ जाता है। लेकिन अपनी सेक्शुअल फैन्टसी के बारे में सेक्स के दौरान सोचने से भी आपकी परफॉर्मेंस बेहतर होती है।

साथ बिताए रोमांटिक पलों के बारे में सोचने से भी आपकी सेक्स लाइफ में खुशियां बढ़ जाती हैं। ऐसा जरूरी नहीं है कि आपने पार्टनर के साथ जो सेक्शुअल वक्त साथ बिताया है आप सिर्फ उसी के बारे में सोचें। आप चाहें तो पार्टनर संग बिताए यादगार पल और रोमांटिक डेट के बारे में भी सोच सकते हैं। इससे भी आपका लवमेकिंग ऐक्ट और बेहतर हो जाएगा और आप दोनों के बीच प्यार का बंधन भी मजबूत बनेगा।