ग्वालियर। सचिन तेंदुलकर मार्ग सिटी सेंटर से टोल टैक्स बैरियर के सिक्यूरिटी ऑफिसर बृजेंद्र सिंह तोमर को गोली मारकर 24 लाख 20 हजार रुपए लूटकर भागे बाइक सवार लुटेरों का पुलिस कोई सुराग नहीं लग पाई है। पुलिस अब तक ये भी पता नहीं लगा पाई कि लुटेरे घटना के बाद पुल के नीचे से भागे हैं या फिर ऊपर से। पुलिस की जांच पुल से पहले टेनिस कोर्ट से आगे नहीं बढ़ पाई है। क्योंकि यहीं तक लुटेरों के सीसीसीटी फुटेज मिले हैं। इससे पहले भी सिटी सेंटर क्षेत्र में हुईं आधा दर्जन के लगभग बड़ी लूटों की घटनाएं पं-बंगाल व बिहार के बदमाशों में उलझकर रह गईं।


मेहरा टोल टैक्स बैरियर पर कैश का कलेक्शन काम करने वाली कंपनी के सिक्यूरिटी सुपरवाइजर बृजेंद्र सिंह तोमर 24लाख 20 हजार रुपए बैंक में जमा कराने के लिए बैंक आए थे। सचिन तेंदुलकर मार्ग पर स्थित एलआईसी दफ्तर के पास बाइक से आए दो बदमाश सुपरवाइजर को गोली मारकर नोटों से भरा बैग लूटकर ले गए। पुलिस के जवान ने बदमाशों को पकड़ने का प्रयास करने पर उस पर भी पिस्टल तान दी थी।


केवल टेनिस कोर्ट तक नजर आए लुटेरे -


लूट की वारदात के बाद पुलिस ने सबसे पहले ये पता लगाने के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाले कि लुटेरे किस दिशा से आए और किस दिशा की तरफ से भागे। पुलिस को फुटेज में बदमाश केवल राजामता चौराहे से टर्न लेकर एजी पुल के पास टेनिस कोर्ट तक नजर आए हैं। इसके बाद पता नहीं चला कि लुटेरे पुल चढ़कर भागे हैं, या फिर नीचे से किसी कॉलोनी का रास्ता पकड़कर निकल गए।


हालांकि पुलिस का दावा है कि लूट की इस वारदात में स्थानीय बदमाशों का हाथ है। लेकिन अब तक पुलिस उनकी पहचान तक नहीं कर पाई है। पुलिस लुटेरे तक पहुंचने के लिए बैंक गार्ड से लेकर टोल टैक्स बैरियर पर कार्यरत स्थानीय व वाहर के कर्मचारियों से पूछताछ कर चुकी है।


इंडियन ओवरसीज बैंक को लूटने वाले बदमाश भी नहीं आए पकड़ में -


पुरानी छावनी रोड पर स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक में तीन बदमाश पूरी योजना के साथ घुस आए थे। लुटेरे हथियार पिट्टो बैग में लेकर आए थे। लुटेरों ने कैशियर व बैंक में मौजूद महिला अधिकारी सहित तीन अधिकारयों पर हथियार तानकर बैंक लूटने का प्रयास किया। लेकिन बैंक अधिकारियों ने साहस दिखाते हुए एक लुटेरे को दबोच लिया। अपने साथी को बचाने के लिए लुटेरों ने बैंक में गोली भी चलाई। लेकिन भागते समय बदमाश एक अधिया व बैग छोड़ गए।


बगैर गार्ड वाली बैंक को लूटने का प्रयास करने के मामले को भी पुरानी छावनी थाना पुलिस ने ठंडे बस्ते में डालकर भूल गए। दोनों ही मामलों में पड़ताल के लिए क्राइम ब्रांच को भी लगाया गया। लेकिन क्राइम ब्रांच ने भी ढील डाल दी, जिसके कारण 24 लाख की लूट व बैंक लूट के प्रयास के मामले में पुलिस खाली हाथ है। पुलिस का दावा है कि दोनों मामलों में बदमाशों की तलाश की जा रही है।