मास्‍टरबेशन को हेल्‍थी सेक्‍स लाइफ का एक जरूरी हिस्‍सा माना जाता है। मगर क्‍या हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या आपको ऐसा करने से रोकती है? क्‍या आपको लगता है कि हाई ब्‍लड प्रेशर में मास्‍टरबेशन करने से आप किसी परेशानी में फंस सकते हैं? हम आपको बता रहे हैं कि हाई ब्‍लड प्रेशर और मास्‍टरबेशन में क्‍या संबंध है?


एक हेल्‍थी व्‍यक्ति जब मास्‍टरबेशन के बाद इजेक्‍युलेट होता है तो उस वक्‍त उसका ब्‍लड प्रेशर बढ़ जाता है। जब आप सेक्‍स या मास्‍टरबेशन करते हैं तो आपकी बॉडी वही हॉर्मोन रिलीज होते हैं जो तनाव के वक्‍त रिलीज होते हैं। इन्‍हीं हॉर्मोन की वजह से मास्‍टरबेशन या सेक्‍स के वक्‍त आपकी हार्ट रेट और ब्‍लड प्रेशर बढ़ जाता है। इजेक्‍युलेशन के बाद कम से कम 10 मिनट तक आपका ब्‍लड प्रेशर बढ़ा रहता है।

मास्‍टरबेशन को ब्‍लड प्रेशर का कारण नहीं माना जा सकता। अलबत्‍ता मास्‍टरबेशन करने से ब्‍लड प्रेशर कुछ देर के लिए बढ़ जरूर जाता है। मगर यह ब्‍लड प्रेशर का मूल कारण नहीं हो सकता। अगर आपको पहले से ही हाइपरटेंशन या ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या है तो मास्‍टरबेशन करने से परहेज करें।

अगर आपको हाइपरटेंशन की समस्‍या है और आप इसके बारे में नहीं जानते तो आप हाई रिस्‍क पर हैं। ऐसा होने पर आपको कार्डियक अरेस्‍ट, स्‍ट्रोक, हार्ट अटैक या फिर वास्‍कुलर अटैक हो सकता है।

खैर ऊपर बताई गई बातों से डरने की जरूरत कतई नहीं है। इस प्रकार की घटनाएं बहुत ही रेयर होती हैं मास्‍टरबेशन के वक्‍त किसी को हार्ट अटैक आए। डरने की बजाए आप अपनी दिनचर्या में कुछ विशेष फिजिकल ऐक्टिविटीज शामिल करके रिस्‍क को कम कर सकते हैं।