कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को दो दिवासीय प्रवास पर छत्तीसगढ़ पहुंचे. राजधानी रायपुर में एक कार्यक्रम में राहुल गांधी केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर तानाशाही रवैया अपनाने का आरोप लगाया. राहुल गांधी ने कहा कि देश के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार जजों को जनता के सामने अपनी बात रखने के लिए आना पड़ा.


राहुल ने कहा कि प्रेस के साथ ही भाजपा सांसद भी प्रधानमंत्री मोदी से डरते हैं. राजधानी रायपुर में राजीव गांधी पंचायती राज सम्मेलन को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने किसानों की कर्ज माफी के मुद्दे पर वित्तमंत्री अरुण जेटली पर भी निशाना साधा. राहुल गांधी ने कहा कि देश की संवैधानिक संस्थाओं को मोदी सरकार आरएसएस के लोगों से भर रही है, लेकिन कांग्रेस के शासनकाल में कभी ऐसा नहीं किया गया.


राहुल ने कहा कि सरकार का ऐसा तानाशाही रवैया सिर्फ पाकिस्तान और अफ्रीकी देशों में ही देखने को मिलता है.

राहुल गांधी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का नाम लिए बगैर आरोप लगाया कि एक हत्या के मुकदमे का आरोपी व्यक्ति देश की एक राष्ट्रीय पार्टी का अध्यक्ष है.


रायपुर में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पीएल पुलिया सहित कई कांग्रेसी नेता मौजूद हैं. कार्यक्रम में आदिवासी नेता अरविंद नेताम भी मौजूद हैं, जो आज कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं. इस कार्यक्रम के बाद राहुल गांधी सीतापुर, सरगुजा संभाग के लिए रवाना होंगे. सीतापुर में किसान आदिवासी सम्मेलन का आयोजन होगा.



सीतापुर के बाद राहुल गांधी हेलीकॉप्टर से बिलासपुर जिले के मरवाही विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कोटमिकला पहुंचेंगे, जहां जंगल सत्याग्रह आदिवासी रैली होगी. इसी विधानसभा में आज पूर्व सीएम अजीत जोगी भी सभा कर रहे हैं. इसको लेकर चर्चाओं का दौर है.