वाशिंगटन :  उत्तर कोरिया की अमरीका से होने वाली ऐतिहासिक शिखर वार्ता को रद्द करने की धमकी के बाद अमरीका ने बुधवार को कहा कि वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच होनेवाली बैठक की तैयारियों में लगा है।  इससे पहले उत्तर कोरिया ने इस ऐतिहासिक शिखर वार्ता को रद्द करने की धमकी देते हुए आरोप लगाया कि अमरीका परमाणु निरस्त्रीकरण पर उसे ‘अलग-थलग' करने की कोशिश कर रहा है।

 

उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए ने एक बयान में कहा कि उत्तर कोरिया अपने परमाणु कार्यक्रम को एकतरफा तरीके से बंद करने के बदले में अमरीका की ओर से वित्तीय सहायता को कभी स्वीकार नहीं करेगा। सिंगापुर में 12 जून को होनेवाली बैठक में दोनों देशों की अपनी सीमा पर सैन्य तनाव कम करने के हाल के समझौतों को लागू करने के तरीकों तथा अपने संबंध सुधारने पर चर्चा करने की संभावना थी।  इन रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया करते हुए व्हाइट हाउस ने कहा कि उत्तर कोरिया ने जो कहा है उस पर वह स्वतंत्र रूप से विचार करेगा।  विदेश विभाग ने कहा कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है।व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि अमरीका इस संबंध में मीडिया रिपोर्टों से अवगत है। सैंडर्स ने कहा, ‘उत्तर कोरिया ने जो कहा उस पर अमेरिका स्वतंत्र रूप से विचार करेगा और अपने सहयोगियों के साथ करीबी सहयोग करना जारी रखेगा। ' विदेश विभाग ने कहा कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है और दक्षिण कोरिया तथा अमरीका के बीच चल रहे अभ्यासों पर उत्तर कोरिया ने एक भी शब्द नहीं कहा है।


विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने कहा कि किम ने पहले संकेत दिए थे कि वह दक्षिण कोरिया के साथ लंबे समय से नियोजित संयुक्त अभ्यास जारी रखने की अमरीका की जरूरत और उद्देश्य को समझते हैं। उन्होंने कहा, ‘हमने उस सरकार या दक्षिण कोरिया सरकार से कुछ भी नहीं सुना जो यह संकेत दे कि हम ये अभ्यास न करें या हम राष्ट्रपति ट्रंप और किम जोंग उन के बीच अगले महीने होनेवाली बैठक की तैयारी ना करें। '