आयकर विभाग ने बुधवार को प्रदेश के बड़े कारोबारी के ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई की है. छापेमारी की कार्रवाई रियल एस्टेट कारोबार से जुड़े बिल्डर विशन असनानी और उसके सहयोगी समेत कुल एक दर्जन स्थानों पर एक साथ छापे की कार्रवाई हुई है. विशन असनानी के भोपाल में अरेरा कॉलोनी में बनी आलीशान कोठी समेत आशिमा माल, स्प्रिंग वेली ड्यू और दूसरे प्रोजेक्ट पर छापे की कार्रवाई की जा रही है. असनानी ग्रुप के भोपाल समेत इंदौर और बैंगलुरु के ठिकानों पर आईटी की कार्रवाई चल रही है.


इंदौर में आईटी के अधिकारियों ने असनानी के सहयोगी शरद दरक और भाई द्वारका दरक के यहां छापा मारा है. आईटी को असनानी ग्रुप का हवाला कनेक्शन और एक दर्जन फर्जी कम्पनी के कारोबार का पता चला है.


असनानी ग्रुप घाटे में बताकर कंपनियों को बंद कर देता है. बताया जा रहा है कि आईटी को छापे में कई अहम दस्तावेज हाथ लगे. इसमें असनानी ग्रुप के कुछ प्रोजेक्ट में आईएएस अफसरों का पैसा लगने की भी खबर आ रही है.


सूत्रों के अनुसार दबिश के दौरान कर चोरी के कई दस्तावेज टीम के हाथ लगे हैं टीम को एक डायरी भी मिली है. जिसमें कई अफसरों और नेताओं समेत रसूखदारों के नाम लिखे हैं. टीम इस संबंध में भी जानकारी खंगाल रही है. आयकर की टीम कारोबारी के यहां सुबह से जांच कर रही है. जांच के दौरान टीम ने परिजनों को घर से बाहर जाने पर रोक लगा दी है.