जबलपुर । गोरखपुर गुरुद्वारे के पास रहने वाले गैंगस्टर महबूब अली के घर फायरिंग करने का बदला लेने के लिए गैंगस्टर छोटू चौबे के दीक्षितपुरा स्थित भाजपा कार्यालय परिसर में रहने वाले उसके साथी के घर में बम फेके थे। मंगलवार दोपहर कार सवार तीन बदमाशों ने कार्यालय में एक के बाद एक तीन बम फेंके। जिसमें जीत के घर के सामने का कुछ हिस्सा क्षतिग्रस्त भी हुआ। आरोपित भागने की कोशिश कर रहे थे, तभी आक्रोशित क्षेत्रीयजन ने कार में पथराव कर दिया। हालांकि आरोपित भागने में सफल हो गए।


दीक्षितपुरा स्थित मिश्रबंधु कार्यालय परिसर के पास ही जीत चतुर्वेदी अपने मामा के साथ रहता है। जिसके गैंगस्टर छोटू चौबे से संबंध हैं। मंगलवार की दोपहर लगभग 11 बजे जीत चतुर्वेदी घर पर था। इसकी कुछ युवकों ने पहले रैकी की और फिर कार में सवार तीन युवक वहां पहुंच गए। आरोपितों ने दो बम फेंके। जिसमें से एक बम फटा और दूसरा नहीं फट सका।


तेज आवाज के साथ फैला धुआं -


अचानक तेज आवाज के साथ धुआं फैल गया, जिसके बाद दूसरा बम भी जमीन पर गिरा। जिसकी आवाज सुनकर क्षेत्रीयजन बाहर निकले। लेकिन जैसे ही दूसरा बम जमीन पर गिरा, सभी सतर्क हो गए। हालांकि बम नहीं फटा। पुलिस ने मौके से वह जिंदा बम जब्त किया है।


पथराव से बचने के लिए एक और बम फेंका -


आरोपितों के भागते वक्त लोगों ने पथराव कर दिया। जिससे बचने के लिए आरोपितों ने एक और बम फेंका। जो कार्यालय के सामने पान की दुकान चलाने वाले कैलाश यादव के पास गिरा। बम अपनी ओर आते देखकर कैलाश बचकर भाग निकला। इसके बाद जीत को पुलिस पूछताछ के लिए थाने ले गई।


फुटेज में एक आरोपित कैद -


पुलिस ने दीक्षितपुरा से लेकर आसपास के कैमरे के फुटेज निकालकर जांच शुरू की। जांच में यह पता चला कि घटना के बाद एक आरोपित भागते वक्त कार में नहीं बैठ पाया था। चेरीताल से होते हुए वह आगे की ओर बढ़ा और एक भाजपा नेता के घर में घुसकर दीवार फांदकर निकल गया। यह वीडियो कैमरे में कैद हुआ है।


भेड़ाघाट में मिली लोकेशन -


आरोपितों के मोबाइल नंबर ट्रेस किए गए। जिसमें उनकी लोकेशन मिलते ही कोतवाली पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दबिश दी। हालांकि आरोपित भाग निकले। आरोपित के मिलने के अन्य संभावित स्थानों में दबिश दी जा रही है। आरोपित छोटू चौबे और उसके साथियों पर गोरखपुर, गोराबाजार और कैंट क्षेत्र में मामला दर्ज है। जिनकी तलाश तीन थानों की पुलिस कर रही है।


लकी अली और अन्य आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश की जा रही है। वहीं आरोपितों के जिनसे संबंध हैं उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।


राजेश मालवीय, कोतवाली टीआई