सादात (गाजीपुर): साथ जी नहीं सकते तो साथ मर तो सकते हैं। कुछ इसी तर्ज पर मंगलवार को नगर में घरवालों के शादी के लिए तैयार न होने पर प्रेमी युगल ने ट्रेन के सामने कूदकर जान दे दी। पुलिस ने युवक के पर्स में मिले आधार कार्ड व मोबाइल के आधार पर उसकी व युवती की शिनाख्त की। दोनों भदोही के औराई क्षेत्र के रहने वाले थे।


विजय भारती (19) का गांव के ही आरती (18) के साथ काफी दिनों से प्रेम चल रहा था। इस बीच पालीटेक्निक की पढ़ाई करने के लिए विजय इलाहाबाद चला गया। आरती ने इंटरमीडिएट की पढ़ाई के लिए कछवां के ही एक कालेज में दाखिला करा लिया। दूर रहने के बावजूद दोनों में एक दूसरे के प्रति लगाव बना रहा, बात होती रही। इधर, दोनों के घरवालों को इसका पता चला तो उन्हें नागवार लगा। आरोप है कि वे शादी के लिए तैयार नहीं हुए। सोमवार को विजय ने अपने पिता को फोन कर बताया कि वह कुछ कार्यवश हंडिया जा रहा है। इसके बाद विजय व आरती न जाने कैसे गाजीपुर के सादात में आए और नगर स्थित बापू इंटर कालेज के सामने सुबह 5.38 बजे रेल ट्रैक पर वाराणसी से मऊ की तरफ जा रही चौरीचौरा एक्सप्रेस के सामने दोनों ने कूदकर जान दे दी। घटना के बाद वाराणसी की तरफ जा रही मालगाड़ी के चालक की नजर पड़ी तो उन्होंने स्टेशन मास्टर को सूचना दी। स्टेशन मास्टर विजय कुमार की सूचना पर पुलिस पहुंची। इस बीच घटना का पता चलते ही लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। थानाध्यक्ष सुरेंद्र यादव ने बताया कि दोनों के घरवाले यह नहीं बता पा रहे हैं कि उन्होंने आत्महत्या क्यों की। बहरहाल शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

जनपद के ही किसी कालेज से पास किया था इंटर


विजय दो भाइयों में बड़ा था। उसके पिता के मुताबिक विजय इंटर में फेल हो गया था। तब उसने किसी के माध्यम से गाजीपुर के ही किसी कालेज से इंडरमीडिएट का फार्म भरा था और परीक्षा पास किया था। उन्होंने कहा कि मुझे कुछ नहीं पता कि विजय कैसे यहां आया और क्यों आत्महत्या किया। बिना बाप की बेटी थी आरती


आरती के पिता की मौत पहले ही हो चुकी है। मृतका तीन भाई व तीन बहनों में तीसरे नंबर पर थी। वह यहां कैसे आई और आत्महत्या क्यों की इसके बारे में उसके घरवाले कुछ भी बता नहीं पा रहे हैं। दोस्त से विजय ने कही थी आत्महत्या करने की बात


पुलिस के मुताबिक विजय ने इलाहाबाद में रहने वाले अपने मित्र को रविवार को फोनकर बताया कि वह आरती से बहुत प्यार करता था और उसी से शादी करना चाहता था। घरवालों के तैयार न होने की वजह से वह काफी परेशान रहने लगा था। मित्र ने बताया कि विजय आत्महत्या करने की बात कर रहा था। उसने मुझसे विषाक्त पदार्थ भी उपलब्ध कराने की बात कही लेकिन मैंने उसे काफी समझाया तो वह मान गया। मुझे यकीन नहीं था कि वह सच में ऐसा कर लेगा।