मध्यप्रदेश के रतलाम के रावटी कस्बे के सेलज-देवदा गांव में दूषित पानी पीने से तीन महिलाओं की मौत हो गई है. तीनों महिलाएं एक ही परिवार की हैं. इन सभी ने घर में रखे मटके का पानी पीया था. जिसके बाद तीनों की तबियत बिगड़ गई. रावटी में प्राथमिक इलाज के बाद परिजन इन्हें जिला अस्पताल ले गए, जहां इलाज के बाद इनकी मौत हो गई.

मटके का पानी पीने के बाद सबसे पहले परिवार की 65 वर्षीय देवली बाई की तबियत बिगड़ी. जिन्होंने जिला अस्पताल में देर रात दम तोड़ दिया. उसके बाद उसी मटके से परिवार की 32 वर्षीय माया और 16 साल की सीमा ने भी पानी पीया, बाद में उन्हें भी घबराहट होने लगी. सोमवार सुबह दोनों ने जिला अस्पताल में दम तोड़ दिया.

मामले की गंभीरता को देखते हुए के मृतकों का पोस्टमार्टम करवाया गया और वीसरा को प्रिजर्व कर जांच के लिए भेजा गया है. पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर भी जहरीले पानी से मौत की बात कह रहे हैं. वहीं रावटी थाना पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.

बड़ा सवाल ये है की जिस हैंडपंप का पानी इस परिवार ने पीया है उसी हैंडपंप का पानी पूरा गांव भी पीता है, लेकिन किसी भी परिवार को कोई दिक्कत नहीं हुए है. ऐसे में कयास लगाए जा रहा है कि जिस मटके का पानी इन महिलाओं ने पीया था शायद उसी में कुछ मिलावट हो सकती है.