महेंद्र सिंह धोनी का इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) में जादू बरकरार है. धोनी की कप्‍तानी में चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स ने एक बार फिर से आईपीएल के प्‍लेऑफ में लगभग जगह बना ली है. रविवार को हैदराबाद को आठ विकेट से हराकर चेन्‍नई ने अंतिम-चार का टिकट कटाया. 12 मैचों से उसके 16 अंक हो गए हैं. बाकी टीमों और मैचों की गणना के आधार पर चेन्‍नई का स्‍थान पक्‍का है.


हैदराबाद पहले से ही प्‍लेऑफ में जा चुकी है. बाकी बची छह टीमों में दो टीमें ही 16 या इससे ज्‍यादा पॉइंट बना सकती है. ऐसे में चेन्‍नई आसानी से प्‍लेऑफ में खेलेगी क्‍योंकि उसके पास दो मैच अभी बचे हैं.


चेन्‍नई ने आईपीएल के शुरुआती आठ सालों में हर बार प्‍लेऑफ में जगह बनाई थी. इसके बाद उस पर दो साल का प्रतिबंध लग गया था.


धोनी की कप्‍तानी में यह टीम छह बार फाइनल में पहुंची है और दो बार विजेता बनी है. चेन्‍नई ने 2010 और 2011 में आईपीएल ट्रॉफी जीती थी जबकि 2008, 2012, 2013 और 2015 में वह उपविजेता रही थी. टीम 2009 और 2014 में प्‍लेऑफ तक पहुंची थी और फाइनल में नहीं जा पाई थी.



धोनी 10वीं बार प्‍लेऑफ में खेलेंगे. चेन्‍नई के अलावा वे राइजिंग पुणे सुपरजाएंट की ओर से भी प्‍लेऑफ में खेल चुके हैं.



चेन्‍नई आईपीएल की सबसे कामयाब टीमों में से एक है. उसने दो बार चैंपियंस लीग भी जीती है. दो साल के प्रतिबंध के बाद वापस आई इस टीम ने धोनी की कप्‍तानी में जबरदस्‍त प्रदर्शन किया है और वह अंक तालिका में दूसरे पायदान पर है. उसने टॉप पर मौजूद सनराइजर्स हैदराबाद को इस सीजन में दोनों बार हराया है.


चेन्‍नई इस सीजन में अपने होम ग्राउंड चेन्‍नई के बजाय पुणे में खेल रही है. इसके बावजूद टीम ने बल्‍लेबाजों के दम पर कामयाबी पाई है. उसके दो बल्‍लेबाज इस सीजन में शतक उड़ा चुके हैं. साथ ही कप्‍तान धोनी का बल्‍ला भी रन उगल रहा है.