नई दिल्लीः जेपी ग्रुप ने जेपी इन्फ्राटेक के मकान खरीदने वालों को कंपनी के दो-दो हजार शेयर मुफ्त में देने की पेशकश की है। जेपी ग्रुप ने दिवालापन में फंसी इस कंपनी में नई जान फूंकने के 10000 करोड़ रुपए के प्रस्ताव के तहत की है। सूत्रों ने कहा कि जेपी ग्रुप ने कंपनी के कर्जदाताओं के समक्ष रखे अपने प्रस्ताव में प्रथम पंजीकरण के आधार पर प्रत्येक मकान क्रेता को 2000 शेयर की पेशकश की है। इसके तहत लगभग 4.5 करोड़ शेयर आवंटित किए जा सकते हैं।


इसी तरह समूह ने पहले पंजीकरण के आधार पर मकान क्रेताओं की ओर से 50 फीसदी स्टांप ड्यूटी खुद वहन करने का प्रस्ताव किया है। इसने कहा है कि कंपनी सभी अपार्टमेंट अगले 42 माह में आवंटित करना चाहती है। उल्लेखनीय है कि इसी सप्ताह जेपी ग्रुप के प्रवर्तक मनोज गौड़ ने जेपी इन्फ्राटेक के कर्जदाताओं के समक्ष 10000 करोड़ रुपए से अधिक की पेशकश रखी ताकि मकान क्रेताओं, अल्पांश शेयरधारकों व वित्तीय कर्जदाताओं सहित सभी भागीदारों के हितों की रक्षा की जा सके।


जेपी इन्फ्राटेक, जेपी ग्रुप की प्रमुख कंपनी जयप्रकाश एसोसिएट्स की अनुषंगी है। कंपनी ने 2007 में नोएडा में लगभग 32000 फ्लैट का निर्माण शुरु किया जिसमें से 9500 फ्लैट आवंटित किए गए। इसने 4500 और फ्लैट सौंपने के लिए प्रमाणपत्र हेतु आवेदन किया। कल ही जेपी इन्फ्राटेक ने लक्षद्वीप की 7350 करोड़ रुपए की बोली को अपर्याप्त बताते हुए खारिज कर दिया।