टोरंटो। अमेरिकी एयरपोर्ट पर अब तक कई बार भारत के फिल्म स्टार्स के साथ दुर्व्यवहार की घटनाएं हुई हैं लेकिन इस बार वहां कनाडा के एक सिख मंत्री के साथ ऐसी घटना हुई है। खबरों के अनुसार अमेरिका के डेट्राइट एयरपोर्ट पर कनाडा के सिख मंत्री को जांच के नाम पर उनकी पगड़ी उतरने को मजबूर किया गया। हालांकि, मामला गर्माने के बाद अमेरिकी अधिकारियों ने इसके लिए माफी मांगी है।


जानकारी के अनुसार कनाडा के नवाचार (इनोवेशन) मंत्री नवदीप बैंस का आरोप है कि पिछले साल यात्रा के दौरान हवाई अड्डे पर सुरक्षाकर्मियों ने उनके साथ गलत व्यवहार किया था। उन्होंने बताया कि उन्हें गेट से वापस बुलाकर दोबारा सुरक्षा जांच के लिए लाया गया, जहां उनसे उनकी पगड़ी उतारने को कहा गया।


बैंस ने बताया कि अधिकारियों ने राजनयिक पासपोर्ट दिखाने के बाद ही उन्हें विमान पर सवार होने दिया। बता दें कि इस घटना के सामने आने के बाद कनाडा ने अमेरिका से शिकायत की थी, जिसके बाद अमेरिकी अधिकारियों ने फोन कर माफी मांग ली थी।


कपड़े उतारने जैसा था पगड़ी उतारने को कहना


उन्होंने कनाडा के फ्रांसीसी भाषा के समाचार पत्र ला प्रेसे को बताया कि 'इस अनुभव ने मुझे असहज बना दिया।' उन्होंने कहा कि डेट्राइट हवाई अड्डे पर जब उन्होंने पगड़ी उतारने से जब मना किया तो वहां मौजूद सुरक्षा अधिकारी 'बेहद जोर दे रहे थे और जिद कर रहे थे।' उन्होंने कहा कि पगड़ी उतारना मानों मेरे शरीर से कपड़े उतारने जैसा है। बैंस ने दावा किया कि मेटल डिटेक्टर से गुजरने के बाद उनकी पगड़ी के कारण सुरक्षा गार्डों ने उनकी विशेष जांच की थी।


मैंने माफ कर दिया


उन्होंने कहा कि अमेरिकी अधिकारियों ने खेद व्यक्त किया है और मुझसे माफी मांगी है। उन्होंने उनकी माफी स्वीकार भी कर ली है। उन्होंने कहा, मैं बहुत निराश और हताश था, लेकिन आखिरकार मुझे उड़ाने भरने की इजाजत दी गई। बैंस ने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ जब अमेरिका की यात्रा के दौरान मुझसे पगड़ी उतारने के लिए कहा गया। सिख धर्म में पुरुषों को पगड़ी पहनने की मान्यता है।


पहचान बताने के बाद मिली उड़ान की इजाजत


उन्होंने अखबार को बताया, 'मैंने उन्हें नहीं बताया कि मैं कौन हूं क्योंकि मैं देखना चाहता था कि आम लोग, जो मंत्री या सांसद नहीं हैं, उनके लिए ये अनुभव कैसा होता है।' उन्होंने बताया कि पहली बार मेटर डिटेक्टर में कुछ गड़बड़ी के कारण सायरन बज गया था, लेकिन वे दूसरी बार मेटल डिटेक्टर से गुजरे तो सब ठीक रहा और वे गेट की तरफ चले गए। लेकिन गेट के पास खड़े एक सुरक्षाकर्मी ने उन्हें रोक लिया और दोबारा सुरक्षा जांच के लिए कहा। फिर उनके पगड़ी उतारने को कहा गया। इसके बाद उन्होंने अपना राजयनिक पासपोर्ट दिखाया और कनाडा के अधिकारी के तौर पर अपनी पहचान पुख्ता की।


अमेरिकी अधिकारियों ने कनाडा से मांगी माफी


इस घटना के सामने आने के बाद कनाडा की विदेश मंत्री क्रिस्टिया फ्रीलैंड ने अमेरिकी अधिकारियों से संपर्क किया, जिन्होंने फोन पर कनाडा से माफी मांगी।