जनकपुर/काठमांडू प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दो दिवसीय नेपाल दौरा शुरू हो चुका है. PM मोदी सुबह 10.30 बजे नेपाल के जनकपुर पहुंचे, जहां उनका भव्य स्वागत किया गया. इसके बाद प्रधानमंत्री सीधे जानकी मंदिर रवाना हुए, यहां PM विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर रहे हैं. बतौर प्रधानमंत्री ये नरेंद्र मोदी का तीसरा नेपाल दौरा है.

PM मोदी सुबह करीब 8 बजे ही दिल्ली से नेपाल के लिए रवाना हुए थे. प्रधानमंत्री ने जनकपुर-अयोध्या बस सर्विस को हरी झंडी दिखाई. इसे रामायण सर्किट के विस्तार के तौर पर देखा जा रहा है.

उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में टूरिज्म तेज गति से आगे बढ़ रहा है. हम दोनों देश मिलकर रामायण सर्किट की योजना को आगे बढ़ा रहे हैं. उन्होंने कहा कि मेरे लिए खुशी की बात है कि जिस यूपी के बनारस ने मुझे प्रधानमंत्री बनाया और उसी यूपी के अयोध्या से जनकपुर की बस सर्विस शुरू हो रही है. 

गौरतलब है कि भारतीय प्रधानमंत्री का दौरा पिछले महीने नेपाली PM केपी शर्मा ओली के भारत दौरे के बाद हो रहा है. ओली फरवरी में पद संभालने के बाद अपनी पहली विदेश यात्रा पर भारत आए थे.

दौरे पर रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री ने गुरुवार को बयान भी जारी किया था. उन्होंने कहा कि भारत, नेपाल के साथ दोस्ताना संबंधों को उच्च प्राथमिकता देता है.

प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली के निमंत्रण पर नेपाल के अपने दौरे का जिक्र करते हुए मोदी ने रवाना होने से पहले बयान में कहा, "बतौर प्रधानमंत्री नेपाल का यह मेरा तीसरा दौरा है. यह नेपाल को लेकर भारत की उच्च प्राथमिकता और हमारे पुराने, करीबी दोस्त नेपाल के साथ निजी तौर पर मेरे जुड़ाव को दर्शाता है."

किन जगहों पर जाएंगे पीएम मोदी?

उन्होंने बताया, 'इस दौरे पर प्रधानमंत्री ओली और मुझे पारस्परिक हित के मुद्दों पर नई दिल्ली में हुई हालिया चर्चा को आगे बढ़ाने का अवसर मिलेगा. विभिन्न क्षेत्रों में हमारी सहकारी साझेदारी को आगे बढ़ाने का अवसर मिलेगा.' साथ ही उन्होंने कहा कि वह काठमांडू के अलावा तीर्थयात्रियों को आकर्षित करने वाले जनकपुर और ऐतिहासिक शहर मुक्तिनाथ भी जाएंगे.