डबलिन आयरलैंड क्रिकेट टीम शुक्रवार को डबलिन के मालाहाइड में इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज कर लेगी, क्योंकि आयरलैंड की टीम इस मैदान पर अपना पहला टेस्ट मैच खेलने वाली है. पाकिस्तान के खिलाफ खेले जाने वाले इस मैच से आयरलैंड टेस्ट टीम के रूप में पहचान हासिल करेगी.


आयरलैंड के कई खिलाड़ी हालांकि कैरेबियाई धरती पर हुए 2007 वर्ल्ड कप की उस टीम के सदस्य रहे हैं, जिसने जमैका में पाकिस्तान को तीन विकेट से हराकर टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता दिखाया था और खिलाड़ियों को उम्मीद है कि वे एक बार फिर उलटफेर करने में सक्षम हैं.


आयरलैंड की उस टीम में अंशकालिक क्रिकेटर थे, जिसमें से कुछ शिक्षक, किसान और डाक विभाग में काम करने वाले लोग थे और सेंट पैट्रिक दिवस के दिन पाकिस्तान को हराने में सफल रहे.



यह खुशी हालांकि जल्द की मातम में तब्दील हो गई जब पाकिस्तान के कोच बॉब वूल्मर अगली सुबह अपने होटल के कमरे में मृत मिले. पाकिस्तान की टीम तेज गेंदबाज बॉयड रैंकिंग की धारदार गेंदबाजी के सामने 132 रन पर सिमट गई. टेस्ट डेब्यू की तैयारी कर रहे रैंकिंग ने तीन विकेट चटकाए थे.


आयरलैंड की टीम ने इसके जवाब में 15 रन पर दो विकेट गंवा दिए थे, लेकिन टेस्ट टीम में शामिल नील ओ ब्रायन की 72 रन की पारी की बदौलत टीम लक्ष्य के करीब पहुंची और संन्यास ले चुके कप्तान ट्रेंट जॉन्सटन ने अजहर महमूद पर छक्का जड़कर टीम को जीत दिलाई.


वर्ल्ड रैंकिंग में सातवें स्थान पर काबिज पाकिस्तान की टीम इस मैच में जीत की प्रबल दावेदार होगी. इसमें वर्ल्ड रैंकिंग में 10वें स्थान पर काबिज बल्लेबाज अजहर अली सलामी बल्लेबाज के रूप में मैदान पर उतरेंगे.