बेंगलुरु,  कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान जोरशोर से जारी है. बीजेपी और कांग्रेस के दिग्गज नेता कर्नाटक में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं और एक-दूसरे पर हमला बोल रहे हैं. यहां कांग्रेस के सामने अपने किले को बचाने की चुनौती है, तो बीजेपी के सामने अपने वनवास को खत्म करने की.


बीजेपी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी चुनाव प्रचार में उतारा है. मंगलवार को बेंगलुरु में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस पर करारा वार किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का चरित्र ये है कि जिन लोगों को आज जेल में होना चाहिए, वो सरकार में बैठे हैं. कांग्रेस ने बेंगलुरु को बदनाम करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है.


उन्होंने कहा कि कर्नाटक सरकार ने लोकायुक्त को कमजोर कर दिया है. लोकायुक्त पर हमले होते हैं. उन्होंने कहा कि इस चुनाव में कांग्रेस को अपने पांच साल का हिसाब देना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है. मोदी ने कहा कि कांग्रेस सिर्फ प्रपंच कर रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पांच साल का प्रपंच इस प्रकार है......


1- दिल्लीपति से गलीपति तक एक परिवार, उससे आगे कुछ नहीं


2. करप्शन की सरकार

3. अपराधियों का अत्याचार


4. किसानों में हाहाकार


5. देश, समाज, जाति को बांटो


उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पंजे ने पांच प्रपंच करके न सिर्फ कर्नाटक को बर्बाद किया है, बल्कि आगामी पीढ़ी का भविष्य भी बर्बाद किया है. कांग्रेस सरकार के पांच साल के प्रपंच को हर कर्नाटकवासी जनता है. आज पांच साल वाली प्रपंच की सरकार महाकाव्य लिखने में लगी हुई है. उन्होंने कहा कि अभी तक हम सुनते थे कि जहां न पहुंचे रवि, वहां पहुंचे कवि, लेकिन अब पूरी कांग्रेस कल्पना में जी रही है.


पीएम ने कहा कि कन्नड प्रेमी कांग्रेस के इस महाकाव्य को देखेंगे. इसमें एक भी ऐसी लाइन नहीं है, जिसमें व्याकरण और शब्द की गलती न हो. उन्होंने कहा कि सपनों के कांग्रेसी सौदागरों के लिए यह महाकाव्य बेहद जरूरी होगा, लेकिन हम सामान्य आदमी के जीवन में बदलाव लाने वाले लोग हैं. इसलिए हम महाकाव्य नहीं लिखते हैं, बल्कि वचन देते हैं और उसको समय में पूरा करते हैं. इस दौरान उन्होंने आधुनिकीकरण, विकास और स्किल इंडिया का वादा किया.


सिद्धारमैया पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा कि कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया बेंगलुरु को पसंद नहीं करते हैं. 5 साल में बेंगलुरू का बुरा हाल हो गया है. उन्होंने कहा कि जब अर्थशास्त्री की सरकार थी, तो उसको रिमोट कंट्रोल से सोनिया गांधी चलाती थीं.


कोप्पल में क्या बोले मोदी


मंगलवार को पीएम मोदी ने कर्नाटक के कोप्पल में जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि बीजेपी राष्ट्रभक्ति और समाजसेवा में भरोसा करती है, जबकि कांग्रेस सिर्फ परिवार के लिए काम करती है.


मोदी ने कहा, ''मैं कर्नाटक के लोगों से कहना चाहता हूं कि वे सीएम सिद्धारमैया से पूछें कि सिंचाई के प्रोजेक्ट का क्या हुआ, जिसका उन्होंने वादा किया था? उस प्रोजेक्ट का पैसा कहां गया? कांग्रेस कर्नाटक में पूरे पांच साल तक स्लीप मोड में रही.'' मालूम हो कि कुछ दिनों पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने भाषण में पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि पीएम मोदी कभी वर्क मोड में नहीं आते, वो हमेशा एयरप्लेन मोड और स्पीकर मोड में रहते हैं.


पीएम मोदी ने कहा, ''दो साल पहले मैंने मन की बात कार्यक्रम में कोप्पल की एक लड़की का जिक्र किया था. मुझे खुशी हो रही है कि उसने स्वच्छ भारत अभियान में इतनी लगन से हिस्सा लिया. आज देश की कई महिलाएं इस अभियान में हिस्सा ले रही हैं.''


मोदी ने कहा, ''मेरे मित्र जगदीश शेट्टार ने कृष्ण वाइल्ड योजना की कल्पना की थी. कांग्रेस सरकार ने उसपर ताले लगा दिए. हमारा किसान मजबूत होना चाहिए, किसानों को पानी मिलना चाहिए. कांग्रेस सरकार को पैसे में रुचि है, पानी में रुचि नहीं है. आजादी के बाद हमने पहली बार ऐसा काम किया. किसान की खेती में लगने वाले खर्च को एमएसपी के डेढ़ गुना दिया जाएगा. आजतक ऐसा नहीं हुआ.''


पीएम ने कहा, ''हमने 22 हजार ग्रामीण हाटों को अपडेट करने की योजना बनाई है ताकि किसान को अपनी पैदावार का सही दाम मिल जाए. हम प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लाए हैं. इससे किसान को बुवाई से पहले, बुवाई के दौरान, फसल पैदा होने के बाद, फसल बाजार में जाने से पहले किसी भी प्राकृतिक वजह से हुए नुकसान के बदले पैसे मिलेंगे. कर्नाटक के किसानों को इस बीमा के 11 हजार करोड़ रुपए मिले हैं. आपको येदियुरप्पा की सरकार बनानी है, किसानों के भले के लिए सरकार बनानी है.''