उज्‍जैन: मध्‍यप्रदेश में चुनाव से पहले जनता के बीच अपनी जगह मजबूत बनाने के लिए कांग्रेस और भाजपा दोनों के बीच तगड़ी टक्‍कर चल रही है. कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष बनने के बाद से ही कमलनाथ लगातार प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लेकर बयानबाजी कर रहे हैं. इसी बीच एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कमलनाथ ने कहा कि 'शिवराज सिंह चौहान मेरे मित्र हैं, लेकिन कुछ मित्र लायक होते हैं तो कुछ नालायक.'

कमलनाथ ने कहा कि 'हम यूपी और पंजाब विधानसभा चुनाव की तर्ज पर प्रशांत किशोर की इस चुनाव में भी मदद लेंगे. मंदसौर गोलीकांड की बरसी पर 6 जून के कार्यक्रम में राहुल गांधी को भी आमंत्रित किया गया है.'  मध्य प्रदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष से जब कांफ्रेंस में पूछा गया कि 'कांग्रेस के जीतने पर क्या वो मुख्मयंत्री बनेंगे तो कमलनाथ ने कोई जवाब नहीं दिया.

कमलनाथ की इस बात का जवाब देते हुए मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट करते हुए उन्‍हें अपना जवाब दिया. शिवराज ने ट्वीट करते हुए पोस्‍ट किया कि 'हाथों की रेखाएं हमारी भी बहुत ख़ास हैं. तभी तो आप जैसा दोस्त हमारे पास है…!! जो सबसे हमेशा कहते फिरते हैं, बस 'कमल' ही लायक है. हम सब भी आपकी इज़्जत करते हैं और ज़ोर-शोर से दोहराते हैं कि कमल का फूल ही सबसे लायक है, भारतीय जनता ही हमारी नायक है...!!' 


उपचुनाव में भाजपा की हार तय...

वहीं, मध्यप्रदेश से सांसद और कांग्रेस की चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया से सिर्फ जी मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ पर खास चर्चा हुई. सिंधिया ने कहा कि भाजपा की कथनी और करनी में बहुत अंतर है. उपचुनाव में भाजपा को हार का सामना करना पड़ेगा. 200 सीट तो बहुत दूर की बात है. लगातार मध्यप्रदेश में बलात्कार के मामले सामने आ रहे हैं. बेटियों को भाजपा से बचाओ का नारा लगाना चाहिए. अगर कोई भी अंगद का पांव है तो वह केवल प्रदेश और देश की जनता है. कर्नाटक में कांग्रेस ने बेहतरीन काम किया है.