मंगलवार दिनांक 01.05.18 को ज्येष्ठ का महीना शुरू हो रहा है। ज्येष्ठ हिन्दू पंचांग का तीसरा महीना है। इस महीने में बहुत गर्मी पड़ती है, सूर्य देव अपने रौद्र रूप में होते हैं अर्थात इस महीने में गर्मी अपने चरम पर होती है। गर्मी अधिक होने के कारण अन्य महीनों की अपेक्षा इस माह में जल का वाष्पीकरण अधिक होता है और कई नदी, तालाब व पोखर सूख जाते हैं। अत: इस माह में जल का महत्व दूसरे महीनों की तुलना में ओर बढ़ जाता है। यही कारण है कि इस माह में जल का पूजन किया जाता है। वैदिक व पौराणिक शास्त्रों में ऋषि मुनियों ने जल को सर्वाधिक पवित्र व जीवनदायिनी माना है। 
 

विशेष पूजन विधि: घर की पूर्व दिशा में लाल वस्त्र बिछाकर भगवान वासुदेव का चित्र स्थापित करके विधिवत दशोपचार पूजन करें। शहद मिले गौघृत का 11 मुखी दीप करें, चंदन से धूप करें, लाल फूल चढ़ाएं, लाल चंदन से तिलक करें, तुलसीपत्र, ऋतुफल चढ़ाएं व दूध-शहद का भोग लगाकर किसी माला से इस विशेष मंत्र का 1 माला जाप करें। पूजन के बाद भोग गाय को डाल दें।
 

पूजन मुहूर्त: प्रातः 10:55 से दिन 11:55 तक। 

पूजन मंत्र: ॐ नारायाणाय विद्महे वासुदेवाय धीमहि। तन्नो विष्णुः प्रचोदयात्॥
 

आज का शुभाशुभ

आज का अभिजीत मुहूर्त: दिन 12:02 से दिन 12:51 तक।

आज का अमृत काल: रात 03:35 से प्रत 05:22 तक।

आज का राहु काल: दिन 15:29 से शाम 17:00 तक।

आज का गुलिक काल: दिन 12:26 से दिन 13:58 तक। 

आज का यमगंड काल: प्रातः 09:23 से प्रातः 10:55 तक।
 

यात्रा मुहूर्त: आज दिशाशूल उत्तर व राहुकाल वास पश्चिम में है। अतः उत्तर व पश्चिम दिशा की यात्रा टालें।

वर्जित मुहूर्त: पृथ्वी वासिनी भद्रा दिन 14:37 से रात 01:31 तक रहेगी, जिसमें शुभ कार्य वर्जित कहे गए हैं।
 

आज का गुडलक ज्ञान

आज का गुडलक कलर: लाल।

आज का गुडलक दिशा: दक्षिण।

आज का गुडलक मंत्र: ॐ नमो भगवते वासुदेवाय॥

आज का गुडलक टाइम: शाम 17:29 से शाम 18:29 तक।

 

आज का बर्थडे गुडलक: समस्याओं से मुक्ति हेतु कर्पूर के साथ लाल चंदन जलाकर श्री हरि की आरती करें।

आज का एनिवर्सरी गुडलक: भोग विलिसिता में वृद्धि हेतु भगवान वासुदेव पर चढ़े खजूर बच्चों में बांटे।

गुडलक महागुरु का महा टोटका: सर्व कामनाओं कि पूर्ति हेतु श्रीवासुदेव के निमित केसर मिले घी के 11 दीप जलाएं।