मध्य प्रदेश के सतना जिले के पास जबलपुर से दिल्ली जा रही महाकौशल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बच गई. इस हादसे के बाद ट्रेन में सवार यात्रियों के बीच अफरा-तफरी मच गई. बताया जा रहा है कि तेज आंधी के चलते लकड़ी का बड़ा टुकड़ा इंजन के पास जा गिरा. लकड़ी के टकराने से इंजन का कांच टूट गया. ड्राइवर की सूझबूझ से ट्रेन को रोक दिया गया.


जानकारी के अनुसार, रविवार रात को सतना के झुकेही स्टेशन के बीच जबलपुर-निजामुद्दीन महाकौशल एक्सप्रेस में बड़ा हादसा होने से टल गया. यहां तेज आंधी के चलते ट्रैक किनारे बनी एक झोपड़ी का बांस अचानक हवा में उड़कर सीधे इंजन से टकरा गया. बांस के इंजन से टकराने के कारण कांच टूट गए. बांस के टकराने के दौरान चालक पूरी तरह चौंक गए. वे जब कुछ समझ पाते तब तक कंट्रोल सिस्टम फेल हो गया. लोको पायलट ने किसी तरह ट्रेन को कंट्रोल कर रोका और इसकी सूचना कंट्रोल रूम में दी.


सूचना मिलने के बाद रेल अधिकारी मौके पर पहुंच गए. तीन घंटे बाद जब दूसरा इंजन आया तो ट्रेन को रवाना किया गया. इस हादसे के दौरान यात्रियों में हड़कंप मच गया था. ट्रेन रवाना होने के बाद यात्रियों ने रहात की सांस ली.