चुनाव आयोग ने आमदनी और खर्च का हिसाब-किताब नहीं देने पर राष्ट्रीय जनता दल को नोटिस जारी किया है. साथ ही 20 दिनों के भीतर इसका जवाब देने को कहा है. आयोग ने कहा कि जवाब नहीं मिलने पर पार्टी का चुनाव चिह्न रद्द किया जा सकता है.


सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार प्रत्येक पार्टी को हर वित्तीय वर्ष के अगले साल 31 अक्टूबर तक वार्षिक लेखा परीक्षा की रिपोर्ट पेश करनी होती है, लेकिन राजद ने 31 अक्टूबर 2015 तक वर्ष 2014-15 के लिए अपनी रिपोर्ट नहीं पेश की.


आयोग ने सोमवार को जारी एक विज्ञप्ति में कहा कि आयोग ने राजद को अब तक 8 बार स्मरण-पत्र जारी करके हिसाब-किताब देने को कहा, लेकिन पार्टी ने रिपोर्ट नहीं पेश की. इसलिए कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है कि चुनाव चिह्न आदेश 1968 के पैरा 16 ए के तहत क्यों न कार्रवाई की जाए.


आयोग ने कहा है कि नोटिस मिलने के 20 दिनों के भीतर पार्टी अपनी लेखा रिपोर्ट पेश करे अन्यथा आयोग अब बिना कोई सूचना दिए पार्टी के खिलाफ कार्रवाई कर सकता है.