नई दिल्ली कैम्ब्रिज एनालिटिका फर्म के साथ संबंधों पर घिरी कांग्रेस के लिए एक और चिंता की खबर आई है. कांग्रेस के बागी नेता शहजाद पूनावाला ने एक रिपोर्ट रिलीज़ की है. उनका दावा है कि कैम्ब्रिज एनालिटिका ने कांग्रेस पार्टी को लोकसभा चुनाव मैनेजमेंट के लिए पिच (पेशकश) किया था.  


49 पेज की इस रिपोर्ट को कैम्ब्रिज एनालिटिका ने तैयार किया है. इस रिपोर्ट का नाम 'डेटा ड्रिवन कैंपेन: द पाथ ऑफ द 2019 लोकसभा' है. इस रिपोर्ट को अगस्त 2017 में तैयार किया गया था और कांग्रेस आलाकमान के सामने पेश किया गया था. हालांकि, इस कांग्रेस पार्टी अभी तक कैम्ब्रिज एनालिटिका के साथ किसी भी तरह के संबंध के साथ इनकार करती रही है.


जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार, इस प्लान को कैम्ब्रिज एनालिटिका के पूर्व सीईओ एलेक्ज़ेंडर निक्स ने तैयार किया था. इसमें कर्नाटक, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों का भी प्लान दिया गया था. इसके अलावा राष्ट्रीय स्तर पर लोगों का डेटा किस तरह तैयार किया जाए इस पर भी प्लान पेश किया गया.

इन डॉक्यूमेंट्स के अनुसार, इस रिसर्च की कुल कीमत 3,89,460 डॉलर बताई गई है. लेकिन पूनावाला ने दावा किया है कि ये डील करीब 200 से 500 करोड़ रुपए के बीच की थी. इस एनालिसिस का पूरा मकसद डेटा माइनिंग, नेशनल डेटा एनालिसिस, डेटा ड्रिवन कैंपेन, मीडिया मॉनिटिरिंग करने की बात कही गई थी.


अपनी इस रिपोर्ट में कैम्ब्रिज एनालिटिका ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए चलाए गए कैंपेन का भी जिक्र किया है. इसमें बताया गया है कि डेटा इंजीनियर वेबसाइट, मोबाइल एप्स, ट्विटर, फेसबुक के जरिए डेटा को इक्ट्ठा करेंगे. इसमें बताया गया है कि जैसे ही कांग्रेस की वेबसाइट पर आएंगे या फिर कांग्रेस के कार्यकर्ता से जुड़ेंगे तो उनकी डिटेल खुद ही रिकॉर्ड हो जाएगी.

पूनावाला ने दावा किया है कि ये प्रेजेंटेशन एलेक्जेंडर निक्स के द्वारा राहुल गांधी के सामने पेश की गई थी. उन्होंने कहा है कि पिछले कुछ दिनों में राहुल गांधी के सोशल मीडिया में जिस तरह से बदलाव आया है ये उसी का उदाहरण है.


कांग्रेस का आया था नाम


गौरतलब है कि कैम्ब्रिज एनालिटिका के पूर्व कर्मचारी रहे क्रिस्टोफर विली ने डेटा लीक से जुड़े कई खुलासे किए थे. जिसमें उन्होंने बताया था कि भारत में रहकर उन्होंने काफी काम किया और उसका यहां ऑफिस भी था. विली ने ब्रिटेन के हाउस ऑफ कॉमन्स में डिजिटल, कल्चर, मीडिया और स्पोर्ट्स कमिटी के सामने यह बयान दिया था.


बयान देते हुए विली ने कैम्ब्रिज एनालिटिक के साथ काम करने वाली पार्टियों का नाम लेते हुए भारत की कांग्रेस पार्टी का भी नाम लिया. विली के अनुसार उसे पूरा विश्वास है कि ‘कैम्ब्रिज एनालिटिका’ की एक क्लाइंट कांग्रेस भी थी. कंपनी ने कांग्रेस पार्टी के लिए हर तरह के प्रोजेक्ट पर काम किया.


सीईओ के दफ्तर में कांग्रेस का पोस्टर


इसके अलावा कैम्ब्रि‍ज एनालिटिका के निलंबित सीईओ एलेक्सजेंडर निक्स के लंदन स्थित दफ्तर में कांग्रेस का पोस्टर दीवार पर चिपके होने की तस्वीर सामने आई थी. जिसको लेकर काफी हंगामा मचा था. यह वीडियो जर्नलिस्ट और टेक ब्लॉगर- जेमी बार्लेट द्वारा बनाई गई डॉक्यूमेंटरी में शामिल रहा था.


'सिक्रेट्स ऑफ सिलिकन वैली' नाम के इस डॉक्यूमेंटरी के दूसरे पार्ट 'द पर्सूएशन मशीन' में इस पोस्टर देखा जा सकता है. इस पोस्टर में जेमी बार्लेट को कैम्ब्रि‍ज एनालिटिका के निलंबित सीईओ एलेक्सजेंडर निक्स के साथ हाथ मिलाते देखा गया है.