इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए युजवेंद्र चहल रविवार (15 अप्रैल) को सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं। उन्होंने अपने नाम 73 विकेट कर लिए। उन्होंने 72 विकेट लेने वाले विनय कुमार को पीछे छोड़ दिया। पूर्व में आईपीएल खेल चुके वरिष्ठ गेंदबाज जहीर खान ने 49, तो अनिल कुंबले ने टीम के लिए 45 विकेट लिए थे। वहीं इस सीजन यानी आईपीएल 2018 की बात करें तो सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज मयंक मार्कंडे हैं। मयंक ने 3 मैचों में 7 विकेट लिए हैं। हालांकि क्रिस वूक्स नाम के गेंदबाज ने भी इतने ही विकेट लिए हैं, लेकिन उनका इकोनॉमी रेट मयंक से ज्यादा है। इस सीजन की लिस्ट में युजवेंद्र चहल 16वें नंबर पर हैं, जिन्होंने तीन मैच खेलकर 3 विकेट लिए हैं। आईपीएल इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने गेंदबाज लसिथ मलिंगा हैं जिन्होंने मुंबई इंडियंस की तरफ से खेलते हुए 110 मैचों में 154 विकेट लिए। उनके बाद दूसरे नंबर पर अमित मिश्रा का नाम है जिन्होंने 127 मैचें में 134 विकेट लिए। इस लिस्ट में चहल 27वें नंबर पर हैं।

चहल ने अब तक कुल 59 मैचों में 73 विकेट झटके हैं। मजे की बात यह भी है कि 2014 के मुकाबले इस बार युजवेंद्र चहल की कीमत 60 गुना बढ़ाई गई। उस वक्त रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने चहल को 10 लाख रुपये में खरीदा था। वहीं इस बार टीम ने उन्हें छह करोड़ रुपए में खरीदा। रविवार को आरसीबी और आरआर के बीच खेले गए मैच मे युजवेंद्र चहल ने 4 ओवरों में 22 रन देकर 2 विकेट झटके और आरसीबी के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए। बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए राजस्थान ने 4 विकेट के नुकसान पर 217 रन बनाए थे।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी आरसीबी की टीम निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 198 रन ही बना सकी। इस तरह आरसीबी 19 रनों से हार गई। मैच में संजू सैमसन ने तूफानी पारी खेलते हुए अपनी टीम को लगातार दूसरी जीत दिलाई, वहीं आरसीबी के उमेश यादव भी ना चाहते हुए अपने नाम एक शर्मनाक रिकॉर्ड कर गए। राजस्थान रॉयल्स को गेंदबाजी करते हुए उमेश यादव ने 4 ओवर में बिना कोई विकेट लिये 59 रन दिए। आईपीएल के इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी गेंदबाज ने पांचवीं दफा 50 से ज्यादा रन दिए हों।