पाकिस्तान ने बाबर क्रूज मिसाइल के उन्नत संस्करण का शनिवार को सफल परीक्षण किया जो पारंपरिक और गैर पारंपरिक हथियार ले जाने में सक्षम है। इसकी मारक क्षमता 700 किलोमीटर है। 


पाकिस्तानी सेना ने एक बयान में कहा कि बाबर वेपन सिस्टम-1 जल और थल दोनों स्थानों पर लक्ष्य पर अचूक निशाना लगाने में सक्षम है। मिसाइल परीक्षण के मौके पर सामरिक योजना प्रभाग के महानिदेशक और दूसरे अधिकारी मौजूद थे।


राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए वैज्ञानिकों और इंजीनियरों की तारीफ की है।


इसस पहले इसी साल जनवरी में पाकिस्तान ने बाबर-3 मिसाइल के सफल परीक्षण के दावा किया था। हालांकि बाद में  ये खबर पाकिस्तानी दावे पर सवाल खड़ा हो गया है। रक्षा मामलों के जानकार पाकिस्तानी सेना के मिसाइल परीक्षण के विडियो को कंप्यूटर निर्मित बताया था। 

विश्लेषकों का दावा था कि पाकिस्तान अभी उस काबिल ही नहीं है कि वह उस क्षमता के मिसाइल का अपने दम पर परीक्षण कर ले जिसका दावा वह बाबर-3 के लिए कर रहा है।


पठानकोट में सैटलाइट इमेजरी ऐनालिस्ट समेत कई एक्सपर्ट्स ने तकनीकी सबूत पेश करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने मिसाइल परीक्षण का फर्जी विडियो दुनिया को दिखाया है और उसने मिसाइल लॉन्चिंग दिखाने के लिए कंप्यूटर ग्राफिक्स का इस्तेमाल किया है। डिफेंस ऐनालिस्ट ने लगातार ट्वीट्स के जरिए ये दावा कर रहे हैं।