पाकिस्तान से आई मूक-बधिर गीता के माता-पिता तो नहीं मिल पाए लेकिन अब उसकी शादी की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं. गीता से शादी करने के लिए एक ही दिन में कई मूक-बधिर युवकों प्रस्ताव पहुंच गए.

बता दें कि गीता पाकिस्तान से भारत 2015 में लौटी थी. वे इंदौर के एक मूक-बधिर केंद्र में रह रही हैं. माता-पिता के बारे में जानकारी नहीं मिलने से गीता काफी निराश हो गई है. उसकी जिंदगी में कुछ नयापन लाने के लिए शादी के बारे में विचार किया जा रहा है. गीता से हरी झंडी मिलने के बाद सोशल मीडिया के जरिए युवकों की तलाश शुरू हो गई है. हालांकि गीता के पास भी लैपटॉप है. इस पर भी वह मैट्रिमोनियल और सोशल नेटवर्किंग साइट से युवकों के बारे में जानकारी जुटा सकती है.

बताया जा रहा है कि सांकेतिक भाषा विशेषज्ञ ज्ञानेंद्र पुरोहित ने फेसबुक पर गीता के लिए 'स्मार्ट मूक-बधिर लड़के की आवश्यकता' पोस्ट शेयर किया है. इसके बाद युवकों के प्रस्ताव आ गए. तीन युवाओं ने अपना बायोडेटा भेजा जबकि दस ने वीडियो कॉल के जरिए जानकारी साझा की.

गीता के लड़का पसंद करने के बाद भारत सरकार इस पर कदम उठाएगी. पुरोहित ने बताया कि पिछले तीन दिन में एमपी, गुजरात और दिल्ली के तीन युवकों ने गीता से शादी की इच्छा जताई है.