डायरेक्टर: मुकुल अभ्यंकर


स्टार कास्ट: मनोज बाजपेयी, तब्बू, अन्नू कपूर


अवधि:2 घंटा  


सर्टिफिकेट: U/A


रेटिंग: 2 स्टार


मनोज बाजपेयी और तब्बू ने एक साथ घात और दिल पर मत ले यार जैसी फिल्में की हैं और अब काफी समय के बाद दोनों फिल्म मिसिंग में साथ दिखे. फिल्म के ट्रेलर को तो काफी अच्छा रिस्पांस मिला है. पेश है फिल्म की समीक्षा.


कहानी


फिल्म की कहानी सुशांत दुबे (मनोज बाजपेयी) और उनकी पत्नी अपर्णा दुबे (तब्बू) की है, जो अपनी बेटी तितली के साथ मॉरीशस के एक रिसोर्ट में  लेट नाइट जाते हैं, लेकिन तितली की तबीयत बहुत ज्यादा खराब रहती है. अगली सुबह जब अपर्णा सोकर उठती है तो उसे तितली कहीं नजर नहीं आती. तितली मिसिंग रहती है. सुशांत और अपर्णा दोनों मिलकर तितली की तलाश पूरे रिसॉर्ट में करते हैं. पुलिस को भी बताया जाता है, जिसके बाद सबसे मशहूर पुलिस ऑफिसर रामखेलावन बुद्धू (अन्नू कपूर) इस केस पर लगाए जाते हैं, फिर कहानी में अलग-अलग तरह के लोग अपनी अलग-अलग बातें बताते हैं और  तितली का पता लगा पाना मुश्किल होता है. क्या तितली मिल पाएगी?  कहानी कहां पहुंचती है, यह सब कुछ जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी.


कमजोर कड़ी


फिल्म की कमजोर कड़ी इसकी कहानी है, जो कि कछुए की चाल चलती रहती है. 2 घंटे की कहानी में लास्ट के 5 मिनट बढ़िया हैं, बाक़ी पूरे समय इतने अच्छे एक्टर्स को कहानी की वजह से जाया किया गया है. कहानी और स्क्रीनप्ले का दुरुस्त होना जरूरी था .फिल्म का वन लाइनर अच्छा है लेकिन दर्शाने का ढंग और बेहतर हो सकता था. थ्रिलर होने के बावजूद, थ्रिलिंग एलिमेंट्स कमजोर हैं. फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर भी काफी कमजोर है.  ट्रेलर देखकर लगा था की फिल्म किसी अलग लेवल की होगी, लेकिन निराशा हाथ लगती है.


आखिर क्यों देखें?


मनोज बाजपेयी ने एक पति और पिता के रूप में बहुत ही गजब का अभिनय किया है. वह अपनी बेटी की तलाश कर रही मां के रूप में तब्बू ने लाजवाब अभिनय किया है. मनोज बाजपेयी और तब्बू की केमिस्ट्री भी कमाल की लगती है, वहीं अन्नू कपूर ने पुलिस के रूप में अच्छा काम किया है.


बॉक्स ऑफिस


फिल्म का बजट लगभग 10 करोड़ बताया जा रहा है और मनोज बाजपेयी, तब्बू, अन्नू कपूर के फैंस को यह पसंद आ सकती है.