नई दिल्ली एचडीएफसी ने हाल में अपने होम लोन की ब्याज दरों में 0.05 से 0.20 फीसदी तक की बढ़त की है. इस होम फाइनेंस कंपनी ने पांच साल के बाद होम लोन दरें बढ़ाई हैं और इस बार इस बात का ध्यान रखा है कि कम लोन रकम पर बढ़त का सबसे कम असर हो. HDFC ने लोन की लागत बढ़ने को इसकी वजह बताई है. इससे कर्जधारकों की ईएमआई बढ़ जाएगी.

एचडीएफसी ने कहा है कि नई दरें एक अप्रैल से ही लागू मानी जाएंगी. सबसे पहले यह जानते हैं कि ब्याज दर में बढ़त किस प्रकार की गई है.

इस तरह हुई बढ़त

-30 लाख रुपये तक के लोन के लिए ब्याज दर 8.40 से बढ़ाकर 8.45 फीसदी कर दी गई है.

-30 से 75 लाख रुपये के होम लोन पर ब्याज दर 8.55 से बढ़ाकर 8.6 फीसदी की गई.

-75 लाख रुपये से ऊपर के होम लोन पर ब्याज दर 8.7 फीसदी की गई है.

-महिलाओं को सभी वर्गों में 0.05 फीसदी की छूट मिलेगी.  

बढ़ जाएगी EMI

आइए अब जानते हैं कि इसका एचडीएफसी के कर्जधारकों पर क्या असर हो सकता है.

-30 लाख रुपये के 20 साल के लोन पर ईएमआई में कम से कम 95 रुपये की बढ़त होगी. यदि किसी ने 30 लाख रुपये का लोन 20 साल के लिए लिया है तो पहले उसकी ईएमआई होती थी 25,845 रुपये, लेकिन अब यह बढ़कर 25,940 रुपये हो जाएगी.

-यदि किसी ने 50 लाख रुपये का लोन 20 साल के लिए लिया है तो उसकी EMI कम से कम 158 रुपये बढ़ जाएगी. बढ़त के पहले ईएमआई होती थी 43,550 रुपये और बढ़त के बाद ईएमआई होगी 43,708 रुपये.

गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने पॉलिसी रेट में कोई बदलाव नहीं किया है, इसके बावजूद बैंक और वित्तीय संस्‍थान लगातार अपने लोन की ब्‍याज दरों में इजाफा कर रहे हैं. लोन महंगा करने की यह प्रक्रिया 2017 के अंत से ही देखी जा रही है. इसकी शुरुआत निजी क्षेत्र के बैंकों एक्सिस बैंक, यस बैंक, कोटक महिन्‍द्रा ने की थी. एसबीआई भी अपनी कर्ज की दरें बढ़ा चुका है.