सिंगरौली, जबलपुर। सिंगरौली जिले में मंगलवार की शाम कुछ हिस्‍सों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। इससे फि‍लहाल किसी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है। रिक्‍टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 4.6 महसूस की गई। भूकंप के झटके से एक युवती बेहोश हो गई।


भूकंप के झटके के कारण एनटीपीसी की कुछ यूनिट फेल होना बताया जा रहा है। इस वजह से बिजली गुल होने की जानकारी भी सामने आ रही है।तीव्रता के साथ भूकंप के झटके की वजह से लोग घरों से निकलकर भागने लगे। इससे अफरा - तफरी का माहौल निर्मित हो गया।


सिंगरौली, बैढन के साथ गनियारी, मोरवा, विन्ध्यनगर , जयन्त बरगवां सहित कई जगहों पर तीव्र गति से भूकम्प के झटके महसूस किए गए। इसका समय शाम 7:44 बजे बताया जा रहा है।


कलेक्‍टर ने इसकी पुष्टि की है। यूपी की सीमा तक भूकंप के झटके महसूस किए गए। इससे कुछ मकानाें और अस्‍पताल की दीवारों पर दरारें आने की बात कही गई है। वैज्ञानिक इस बात का पता लगाने में जुटे हैं कि भूकंप का केंद्र और तीव्रता क्‍या थी। कुछ लोग इसे भूगर्भीय हलचल बता रहे हैं।


भूकंप का केन्द्र सिंगरौली से 14 किमी दूर दक्षिण-पश्चिम में रहा। भूकंप की गहराई करीब 10 किमी आंकी गई है। भूकंप की वजह से नेशनल थर्मल पॉॅवर कॉर्पोरेशन की दो यूनिट झटके से बंद हो गईं। मप्र लोड डिस्पेज सेंटर के अनुसार एनटीपीसी की 500 मेगावाट और 210 मेगावाट की यूनिट झटके से करीब 7.45 मिनट पर बंद हुई।


इस प्लांट से मप्र को करीब 150 मेगावाट बिजली मिलती है। खबर लिखे जाने तक एनटीपीसी की एक यूनिट दोबारा शुरू कर ली गई थी।

भूकम्प के झटके से सलमा खातून पिता मुस्तकीम उम्र 17 वर्स निवासी गनियारी (बलियारी) बेहोश हो गई। वह घर मे टीवी देख रही थी तभी अचानक बिल्डिंग के कंपन से बेहोश हो गई। उसे परिजन जिला अस्पताल ले गए जहां कोई डॉक्‍टर न मिलने कारण एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया है।


सिंगरौली के साथ सोनभद्र में भी हुआ महसूस


जोरदार ब्लास्टिंग के साथ आये भूकंप से लोग सहम गए और जो जिस हाल में था घरों से बाहर निकल सड़क पर आ गया। सिंगरौली जिला सहित पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए।भूकम्प से तीन मंजिला मकान तक हिलने लगा और घरों का सामान इधर-उधर गिरने लगा। लोग किसी तरह से अपने आप को संभाल घरों से बाहर निकल सड़क पर पहुंचे।


सिंगरौली अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सूर्यकान्त शर्मा ने इसकी तीव्रता की पुष्टि की हालांकि गूगल पर यह तीव्रता 5.3 दिखा रहा है। भूकंप का असर 30 किलोमीटर एरिया में रहा। अभी लोग दहशत में है और अपने घरों में जाने से डर रहे हैं। जिले में भूकंप का असर तकरीबन 5 से 8 सेकंड तक रहा है।


भूकंप के बाद घरों से बाहर सड़क पर एकत्रित लोग भूकंप के 1 घण्टे बाद अपने आप को संभाल घरों के अंदर गए लेकिन सभी अभी भी डरे सहमे हुये है। जानकारों की माने तो सिंगरौली में इतनी तीव्रता का भूकंप अब से पहले लोगों ने कब महसूस किया हो ये क्षेत्रीय जनों को याद नहीं है। सिंगरौली औद्योगिक क्षेत्र होने की वजह से कोल माइंस एरिया में आये दिन ब्लास्टिंग होती रहती है।


बायलर ट्रिप से आये भूकंप के अफवाह को खारिज करते हुए एनटीपीसी विन्ध्यनगर पीआरओ सतीश श्रीवास्तव ने बताया कि बायलर का भूकंप से कोई लेना देना नहीं है। भूकंप को एनटीपीसी कॉलोनी में भी महसूस किया गया।