मध्य प्रदेश में एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने समेत अन्य मांगों को लेकर प्रदेश भर में प्रदर्शन कर रहे अधिवक्ताओं को मध्यप्रदेश हाईकोर्ट से बड़ा झटका दिया है.


दरअसल, अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर बैठे अधिवक्ताओं की मांगों को मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने असंवैधानिक करार दिया है. एक अधिवक्ता द्वारा दायर जनहित याचिका में अदालत ने प्रदेश के तमाम अधिवक्ता संगठनों को यह निर्देश दिए हैं कि वह तत्काल हड़ताल खत्म कर काम पर वापस लौटें.


याचिका के माध्यम से यह दलील दी गई कि हड़ताल के चलते हजारों की संख्या में गरीब प्रभावित हो रहे हैं वही यह हड़ताल जनहित के खिलाफ है. सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए न्याय दृष्टांत का हवाला याचिका में दिया गया.

मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ ने हड़ताल को असंवैधानिक करार दिया है और याचिका सुनवाई के लिए कल का समय नियत किया है.