प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को सीपीएससी कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए न्यू इंडिया के निर्माण के लिए पांच मंत्र दिए हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए आपकी सहभागिता 5P फॉर्मूले पर चलते हुए और ज्यादा हो सकती है। पीएम मोदी के ये पांच मंत्र  Performance, Process, Persona, Procurement और  Prepare दिए हैं। 

उन्होने कहा कि पब्लिक सेक्टर और प्राइवेट सेक्टर में सफलता के लिए लिए अलग-अलग मंत्र नहीं होते। सफलता के मंत्र की जब मैं बात करता हूं तब, 3 I की एक सोच सामने आती है। 3 I मतलब - Incentives, Imagination and Institution Building। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र ने उस समय भारतीय अर्थव्यवस्था को गति दी जब निजी क्षेत्र में सीमित संभावनाएं थी। 


पीएम मोदी ने कहा कि एक प्रकार से PSE का सही मायनों में अर्थ होता है- Profit and Social benefit generating Enterprise यानि ना सिर्फ शेयर होल्डर्स के लिए लाभ कमाए बल्कि सोसाइटी के लिए भी लाभ उत्पन्न करें। पीएम मोदी ने कहा कि Flexible decision making, talent और technology, ये तीन चीजें जिस संस्थान से जुड़ जाएं उसकी तरक्की को कोई नहीं रोक सकता है।