नई दिल्ली कांग्रेस पार्टी आज केंद्र सरकार के खिलाफ देश भर में उपवास और धरना कर रही है. राजधानी दिल्ली में राजघाट पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अब से कुछ देर में अनशन स्थल पर पहुंचेंगे. लेकिन उनके पहुंचने से पहले ही कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर और सज्जन कुमार को वहां से वापस भेज दिया गया है. इसको लेकर काफी विवाद हो रहा है.


बता दें कि जगदीश टाइटलर और सज्जन कुमार 1984  में हुए सिख दंगों के आरोपी हैं. हालांकि, जगदीश टाइटलर ने कहा है कि वह कहीं नहीं जा रहे हैं, बल्कि जनता के बीच में जाकर बैठेंगे.

कांग्रेस पार्टी आज केंद्र सरकार के खिलाफ देश भर में उपवास और धरना कर रही है. राजधानी दिल्ली में राजघाट पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अब से कुछ देर में अनशन स्थल पर पहुंचेंगे. लेकिन उनके पहुंचने से पहले ही कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर और सज्जन कुमार को वहां से वापस भेज दिया गया है. इसको लेकर काफी विवाद हो रहा है.


बता दें कि जगदीश टाइटलर और सज्जन कुमार 1984  में हुए सिख दंगों के आरोपी हैं. हालांकि, जगदीश टाइटलर ने कहा है कि वह कहीं नहीं जा रहे हैं, बल्कि जनता के बीच में जाकर बैठेंगे.

एआईसीसी के महासचिव प्रभारी (संगठन) अशोक गहलोत ने इस बारे में सभी पीसीसी प्रमुखों, महासचिवों, प्रभारियों और कांग्रेस विधायक दलों के नेताओं को चिट्ठी भेज कर उपवास के आयोजन के लिए कहा है.


गहलोत ने चिट्ठी में लिखा है, ‘2 अप्रैल को भारत बंद प्रदर्शन के दौरान जो हुआ, वो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण था. ये देश के सामाजिक तानेबाने के लिए बहुत खतरनाक है. साफ है कि बीजेपी शासित केंद्र और राज्य सरकारों ने हिंसा को रोकने के कदम उठाने की पहल नहीं की. ना ही भाईचारे को बचाने के लिए कुछ किया. ऐसे में कांग्रेस के लिए ये और अहम है कि मुश्किल वक्त में देश की अगुआई करे.’


बीजेपी सांसद 12 को रखेंगे उपवास


वहीं मोदी सरकार ने विपक्ष पर फूट डालने की राजनीति करने का आरोप लगाया है. संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा है कि कांग्रेस लोकतंत्र का गला घोट रही है. संसद के कामकाज में व्‍यवधान की ओर जनता का ध्‍यान आकृष्‍ट करने के लिए बीजेपी सांसद अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में 12 अप्रैल को एक दिन का उपवास रखेंगे.


सरकार ने विपक्ष पर फूट डालने की राजनीति करने का आरोप लगाया है. संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा, कांग्रेस लोकतंत्र का गला घोट रही है. संसद के कामकाज में व्‍यवधान की ओर जनता का ध्‍यान आकृष्‍ट करने के लिए बीजेपी सांसद अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में 12 अप्रैल को एक दिन का उपवास रखेंगे. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी गत शुक्रवार को इसकी घोषणा की थी.