मुंबई इंडियंस पर एक विकेट से रोमांचक जीत दर्ज कर चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल में धमाकेदार एंट्री की है. ड्वेन ब्रावो की विस्फोटक पारी के बाद चोटिल केदार जाधव ने अंतिम ओवर में चेन्नई के लिए हारी बाजी को जीत में बदल दिया. 

ब्रावो जब आउट हुए तब चेन्नई को एक ओवर में जीत के लिए सात रनों की जरूरत थी. ऐसे में मांसपेशियों में खिंचाव के कारण 13वें ओवर की पांचवीं गेंद पर रिटायर्ड हर्ट होकर मैदान से बाहर गए जाधव ने वापसी की. जाधव आखिरी ओवर की पहली तीन गेंदों पर कोई रन नहीं बना पाए, लेकिन चौथी गेंद पर छक्का और फिर पांचवीं गेंद पर चौका जमाकर उन्होंने चेन्नई को यादगार जीत दिलवा दी. 

हालांकि, केदार जाधव के बल्ले से विजयी शॉट नहीं निकलता और जीत मुंबई को मिलती, यदि चेन्नई की पारी की 41वीं गेंद पर रोहित शर्मा से बड़ी गलती नहीं होती. 

दरअसल, मयंक मार्कंडेय ने सातवें ओवर की पांचवी गेंद पर फेंकी गुगली को केदार जाधव के समझ में नहीं आई. गेंद सीधे उनके पैड पर जाकर लगी. गेंदबाज को पूरा यकीन था कि जाधव आउट है और उन्होंने जोरदार अपील भी की थी, अंपायर ने उन्हें आउट नहीं दिया. 

रोहित शर्मा के पास रिव्यू लेने का मौका था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं कर बहुत बड़ी चूक कर दी. टीवी रिप्ले में देखने पर साफ नजर आ रहा था कि केदार जाधव आउट है. रोहित शर्मा की ये गलती मुंबई को भारी पड़ी. 13वें ओवर में रिटायर्ड हर्ट होकर पैवेलियन लौटे केदार अंतिम ओवर में बल्लेबाजी के आए और चेन्नई को यादगार जीत दिलाने में अहम रोल अदा किया. 

दो साल बाद वापसी कर रही चेन्नई सुपरकिंग्स ने आईपीएल के 11वें संस्करण का आगाज जीत के साथ किया है. उसने शनिवार को वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए सीजन के पहले मैच में मौजूदा विजेता मुंबई इंडियंस को रोमांचक मुकाबले में एक विकेट से हरा दिया. 

मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई के सामने 166 रनों का लक्ष्य रखा था. दो बार की पूर्व विजेता चेन्नई ने ड्वेन ब्रावो की 30 गेंदों में तीन चौके और सात छक्कों की पारी के अलावा चोटिल केदार जाधव की नाबाद 24 रनों की पारी के दम पर एक गेंद शेष रहते हुए लक्ष्य हासिल कर लिया.