पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान खान पर मंगलवार को एक शख्स ने जूता फेंक दिया. वो पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गुजरात शहर में एक रैली को संबोधित कर रहे थे. हालांकि जूता उनको नहीं लगा, बल्कि उनके दाहिनी तरफ खड़े उन्हीं की पार्टी के नेता अलीम खान को लगा. वहां मौजूद सुरक्षा गार्डों ने आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. इस घटना के बाद इमरान ने अपनी रैली रोक दी. पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक़ इमरान खान पर जूता उस समय फेंका गया जब वह अपने वाहन पर चढ़ कर लोगों को संबोधित कर रहे थे.


यह पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान में ऐसी घटना हुई हो. पिछले एक सप्ताह में जूता फेंकने की पाकिस्तान में यह तीसरी घटना है. रविवार को लाहौर में एक इस्लामी शिक्षण संस्थान के एक छात्र ने नवाज़ शरीफ पर जूता फेंका था. जिस छात्र ने उन्हें जूता मारा, वह 'लब्बैक या रसूलुल्लाह' के नारे लगा रहा था. इस मामले में दो छात्रों को गिरफ्तार किया गया. जूता चलाने वाले छात्र का नाम अब्दुल गफूर है, जो मदरसे का पूर्व छात्र है. दूसरे गिरफ्तार छात्र का नाम साजिद है.


आरोप है कि शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) ने संविधान में पैगंबर मोहम्मद से जुड़ी तारीख को बदलने की कोशिश की. जबकि इससे एक दिन पहले शनिवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ के ऊपर स्याही फेंकी गई थी. स्याही फेंकने वाले शख्स ने उन पर भी  इसी तरह का आरोप लगाया था.