मध्य प्रदेश के झाबुआ के  जिला अध्यक्ष दौलतराम भावसार ने खुद को अध्यक्ष पद से हटाए जाने का विरोध किया है. भावसार ने कहा कि बिना सूचना और ना कोई चर्चा के उन्हें पद से हटाना गलत है.


दौलतराम भावसार पार्टी के इस फैसले से काफी नाराज दिख रहे थे.जिले के बीजेपी जिला अध्यक्ष दौलतराम भावसार ने न्यूज 18 के सामने अपनी बात रखते हुए कहा कि उन्हें पद से हटाए जाने को लेकर ना ही कोई जानकारी दी थी और इस मामले में ना उनसे कोई चर्चा की गई. भावसार ने बताया कि वह शिवराज का इंतेजार कर रहे थे तभी उन्हें ई मेल के जरिए पद से हटाने की सूचना भेजी गई थी.


बीजेपी जिला अध्यक्ष के पद से हटाए जाने पर दौलतराम भावसार ने अपनी प्रतिक्रिया रखते हुए कहा कि अगर पार्टी को हटाना था तो पहले कारण बताना चाहिए था. भावसार ने प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार से मीडिया के जरिए सवाल पूछा कि उन्हें हटाने की वजह क्या है?

सूत्रों की मानें तो दौलतराम भावसार को खराब परफॉर्मेंस और आजीवन सदस्यता निधी जुटाने में देरी के चलते जिलाध्यक्ष पद से हटाया गया है.


भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने राजनीति से संन्यास ले चुके मनोहर सेठिया को फिर से झाबुआ का जिलाध्यक्ष बनाया है.