भोपाल। शहर में जलसंकट से निपटने के लिए नगर निगम जल्द ही पानी की कटौती कर सकती है। इसके लिए निगम ने पत्राचार शुरू कर दिया है। निगम प्रशासन ने बड़े तालाब में पानी की कमी को देखते हुए भेल प्रबंधन, ईएमई सेंटर बैरागढ़, रेलवे, लॉ एकेडमी को पत्र लिखकर कहा है कि 50 फीसदी पानी के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करें। निगम पूरे शहर में पानी की कटौती की तैयारी में है, इसको लेकर कार्य योजना बनाई जा रही है, जिसके बारे में आगामी में सप्ताह में निर्णय होगा।


बड़े तालाब से शहर में रोजाना 30 एमजीडी (3 करोड़ लीटर) पानी सप्लाई होता है। इसमें निगम विभिन्न स्थानों पर सप्लाई के लिए 20.50 एमजीडी, बीएचईएल 6 एमजीडी, ईएमई सेंटर बैरागढ़ के लिए 2 एमजीडी, रेलवे 1 एमजीडी, लॉ एकेडमी 0.50 एमजीडी पानी सप्लाई करता है। निगम सूत्रों के अनुसार निगम द्वारा पत्र लिखकर महज औपचारिकता की गई है, क्योंकि इतनी मात्रा में कहीं पानी की कटौती करना और वैकल्पिक व्यवस्था करना संभव नहीं है। निगम द्वारा बड़े तालाब से रोजाना लिया जाने वाला 20.50 एमजीडी पानी में कितना कटौती करेगा, इसका खुलासा भी नहीं किया है। बता दें कि इस साल कम बारिश के कारण बड़ा तालाब फुल टैंक लेवल से 5.3 फीट खाली रह गया था। तालाब का फुल टैंक लेवल 1666.80 फीट है, जबकि इस साल 1661.50 फीट ही जल स्तर पहुंच पाया था।


यह है चिंता की मुख्य वजह


30 जून तक डेड स्टोरेज लेवल तक पहुंच जाएगा बड़े तालाब का जलस्तर नगर निगम के आकलन के हिसाब से यदि बड़े तालाब से रोजाना 30 एमजीडी पानी सप्लाई किया जाता रहा तो आगामी 30 जून तक बड़े तालाब का जलस्तर घटकर 1652 तक पहुंच जाएगा। यह तालाब का डेड स्टोरेज लेवल है। यदि बारिश नहीं हुई तो इससे बाद पानी की आपूर्ति नहीं हो पाएगी। इसलिए बड़े तालाब से पानी की कटौती किया जाना आवश्यक है।


आज तीन जोन में बंद रहेगी सप्लाई


नगर निगम भोपाल द्वारा मंगलवार को जोन वार्ड 54 के अमराई क्षेत्र में उच्चस्तरीय टंकी को नर्मदा परियोजना की फीडरमेन लाइन से जोड़ने का काम किया गया। इस कारण खटपुरा स्थित नर्मदा पंप स्टेशन से दो दिन शटडाउन लिया गया है। बुधवार को भी जोन 13, 14 और 19 के तहत आने वाले क्षेत्रों में पानी सप्लाई नहीं हो पाएगी। इसमें शक्ति नगर, साकेत नगर 9-ए, 9-बी, 2-ए, 2-बी, 2-सी, कटारा हिल्स, अरविंद विहार, आकृति ईको सिटी, रोहित नगर आदि क्षेत्रों में समस्या होगी।


जल संकट से निपटने यह है तैयारी


- नगर निगम शहर में कोलार, नर्मदा और बड़े तालाब से रोजाना 104 एमजीडी पानी की सप्लाई करता है। इस तरह करीब 15 एमजीडी की कटौती करने की योजना है।


- बड़े तालाब के बाद कोलार पाइपलाइन से 10 एमजीडी पानी की कटौती की जानी है। कोलार पाइपलाइन के दो वॉल्व बदले जाएंगे। इसके लिए निगम जल्द ही शटडाउन लेगा। इससे लीकेज में कमी आएगी।


- शहर में पानी सप्लाई के समय में कटौती की जाएगी। इसके लिए नया रोस्टर चार्ट तैयार किया गया है। जल्द ही नई व्यवस्था के हिसाब से पानी सप्लाई शुरू होगी।


- मोटर लगाकर पानी खींचने वालों के खिलाफ भी अभियान चलाकर कार्रवाई की योजना है। इसके तहत पंप लगाकर पानी खींचने वालों पर जुर्माना और पंप जब्त करने की कार्रवाई होगी। इसके लिए जांच दल गठित किए जाएंगे।


इनका कहना


जल संकट से निपटने के लिए कार्ययोजना बनाई जा रही है, लेकिन अब तक कुछ फाइनल नहीं हुआ है। निगम का प्रयास है कि शहर में जल संकट न आए - एमपी सिंह, अपर आयुक्त ननि