नई दिल्ली पिछले 2 हफ्तों में तीसरी बार हवा में इंजन फेल होने के बाद DGCA (डायरेक्टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन) ने 11 विमानों को तुरंत हटाने का आदेश जारी किया है. हटाए गए विमानों में 8 इंडिगो एयरलाइंस के और 3 विमान गोएयर के हैं.


इस आदेश के कारण इंडिगो को अपनी 47 उड़ानों को रद्द करना पड़ा है. दरअसल, सोमवार को इंडिगो की एक फ्लाइट को इंजन में गड़बड़ी के कारण अहमदाबाद एयरपोर्ट पर इमर्जेंसी लैंडिंग करनी पड़ी. इस घटना के कुछ ही घंटों में DGCA ने इंडिगो और गोएयर को निर्देश दिया कि वे 11 A320 नियो विमानों को सेवा से तुरंत हटा लें.


क्या हवा में बंद हो रहा है प्लेन का इंजन...


बता दें कि जिन विमानों को हटाया गया है, उनमें प्रैट ऐंड विटनी (P&W) इंजनों की एक खास सीरीज लगी हुई है. ये इंजन 14 ए 320 नियो विमानों में लगे थे, जिन्हें अब सेवा से हटाया जा चुका है. इंडिगो का कहना है कि अब तक हम 2016 से 69 बार इन इंजनों की मरम्मत कराते आ रहे हैं. लेकिन इंजन में कई खामियां हैं जिस कारण बार-बार इंजन बंद हो जाते हैं.


यही नहीं, इंडिगो के बोरोस्कोपिक टेस्ट (एक ख़ास मशीन द्वारा इंजनों की पड़ताल करने वाला टेस्ट) में भी ये इंजन फेल हो चुके हैं. इसके बावजूद इनका इस्तेमाल किया जा रहा था. अब तक 69 बार इन इंजनों की मरम्मत हो चुकी है इसके बावजूद इंजन फेल हो रहे हैं.  


मालूम हो कि प्रैट ऐंड विटनी (P&W) एक अमेरिकन एयरोस्पेस कंपनी है, जो मिलिट्री और सिविल विमानों के इंजन बनाती हैं.


113 में से 45 विमान तो केवल भारत में...


टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले 18 माह में इंडिगो के 69 विमानों के इंजन फेल हो चुके हैं. जिन विमानों में खराबी आई वो सभी विमान A320 नियो वर्जन के हैं. इन्हें एयर बस ने 2016 में भारत को डिलीवर किया था.


इस बारे में आजतक से बातचीत करते हुए केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने बताया कि, " एयरबस ने 113 PW पावर्ड A320 नियो प्लेन दुनिया भर में 18 ऑपरेटर को डिलीवर किये हैं. इनमें से 45 तो केवल भारत में इंडिगो और गो एयर के पास है."


यूरोप भी हटा चुका है ये विमान...


फरवरी में यूरोपियन एविएशन रेगुलेटर ने प्रैट ऐंड विटनी (PW) इंजनों की सीरिज के ए 320 नियो विमानों को हटा दिया था. इसे देखते हुए भारत में DGCA ने ईएसएन 450 इंजन वाले प्लेन भी हटाने को कहा है.