नई दिल्ली राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल सपा का साथ छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए हैं. समाजवादी पार्टी ने इस बार जया बच्चन को राज्यसभा का टिकट दिया है इसी वजह से नरेश अग्रवाल पार्टी से नाराज हो गए. सपा सांसद रहते हुए अग्रवाल ने कई मौकों पर बीजेपी की कड़ी आलोचना की है और वह अपने विवादित बयानों के लिए भी चर्चा में रहते हैं.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर हिंदू देवी-देवताओं पर विवादित बयान देने वाले नरेश अग्रवाल से बीजेपी नेता खासे नाराज रहते थे. यहां तक कि उनपर बीजेपी समर्थकों ने देवी-देवताओं पर दिए बयान के लिए FIR तक दर्ज कराई थी. लेकिन अब वही अग्रवाल बीजेपी के सदस्य हो चुके हैं.


जाधव को कहा आतंकी


नरेश अग्रवाल ने हाल ही में पूर्व नेवी अधिकारी कुलभूषण जाधव को लेकर बयान दिया था जिसकी काफी आलोचना हुई थी. नरेश अग्रवाल ने कहा था कि 'अगर पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को अपने देश में आतंकवादी माना है, तो वो उस हिसाब से जाधव के साथ व्यवहार करेंगे. हमारे देश में भी आतंकवादियों के साथ ऐसा ही व्यवहार करना चाहिए.' अग्रवाल ने ये बयान जाधव के परिवार की उनसे मुलाकात के संदर्भ में दिया था. इस्लामाबाद में जाधव के परिवार के साथ पाकिस्तान ने बदसलूकी की थी.


पीएम मोदी पर की टिप्पणी


सपा में परिवारवाद के आरोपों का जवाब देते हुए नेता नरेश अग्रवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर व्यक्तिगत टिप्पणी की थी. उन्होंने मोदी के शादी न करने पर चुटकी लेते हुए कहा था, 'उन्होंने शादी तो की नहीं, वह परिवार का मतलब कैसे जानेंगे. वह कैसे जानेंगे कि परिवार का आनंद क्या होता है.'


रेप पर दिया शर्मनाक बयान


यूपी के बदायूं में हुए गैंगरेप पर भी नरेश अग्रवाल विवादित टिप्पणी कर चुके हैं. अग्रवाल से जब एक महिला को अगवा करके कथित रूप से गैंगरेप की घटना और प्रदेश में कानून व्यवस्था पर सवाल पूछा गया था तो उन्होंने जवाब में कहा, 'आप एक बछिया को भी जबरदस्ती घसीटकर नहीं ले जा सकते...'


लड़कियों के कपड़ों पर बयान


मुंबई गैंगरेप के बाद भी अग्रवाल ने रेप की घटनाओं से बचने के लिए लड़कियों को अनोखी सलाह दे डाली थी. तब उन्होंने कहा था कि रेप से बचने के लिए लड़कियों को अपने कपड़ों का ख्याल रखना चाहिए. नरेश अग्रवाल ने कहा था, 'हमें सामाजिक सोच को बदलना पड़ेगा. टीवी की अश्लीलता, रहन-सहन और कपड़े पहनने के तौर-तरीकों पर भी ध्यान देना होगा.'


देवी-देवताओं पर टिप्पणी


नरेश अग्रवाल हिंदू देवी देवताओं पर भी विवादित बयान दे चुके हैं. राज्यसभा में बोलते हुए अग्रवाल ने कहा था, 'व्हिस्की में विष्णु बसें, रम में श्रीराम, जिन में माता जानकी और ठर्रे में हनुमान. सियावर रामचंद्र की जय'. उनके इस बयान पर राज्यसभा में भारी हंगामा हुआ था. अग्रवाल के घर पर कालिख पोती गई और उनपर FIR भी दर्ज कराई गई थी.


पीएम के लिए जातिसूचक शब्द


नरेश अग्रवाल ने लखनऊ में वैश्य समाज की एक बैठक में प्रधानमंत्री मोदी के लिए जाति सूचक शब्द का इस्तेमाल करते हुए उन्हें वैश्य समाज का हिस्सा मानने से इनकार कर दिया था. सभा में मौजूद लोगों ने ही अग्रवाल के इस बयान का काफी विरोध किया था.


सहवाग को बताया भांड


नरेश अग्रवाल ने क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग और अन्य खिलाड़ी योगेश्वर दत्त, बबीता फोगट पर आपत्तिजनक टिप्पणियां भी की थीं. उन्होंने कहा, 'देश में चाटुकारिता करने वालों की कमी नहीं है. यह चाटुकार और भांड खड़े हो जाते हैं. यह कभी देशभक्त नहीं हो सकते हैं और कभी देश के पक्ष में नहीं बोल सकते. इन सब को हम को गंभीरता से नहीं लेना चाहिए.'


नरेश अग्रवाल को दल-बदलू नेता के तौर पर जाना जाता है. समाजवादी पार्टी से पहले अग्रवाल बीएसपी में भी रह चुके हैं. बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करते हुए उन्होंने कहा कि वह पीएम नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से काफी प्रभावित हैं.