इस्लामाबाद अंतरराष्ट्रीय मंच और सीमा पर मुंह की खाने के बाद पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ नया प्रोपेगेंडा शुरू किया है. शुक्रवार को जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में भारत की लताड़ से बौखलाए पाकिस्तान ने आरोप लगाया कि भारत में उसके राजनयिकों और उनके परिजनों को परेशान किया जा रहा है. साथ ही धमकी भरे लहजे में कहा कि अगर भारत ने उसके राजनयिकों को कथित तौर पर परेशान करना बंद नहीं किया, तो वह इनको वापस बुला लेगा.


पाकिस्तान अखबार डॉन ने सूत्रों के हवाले से बताया कि पाकिस्तान ने इसकी जानकारी इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग और दिल्ली स्थित विदेश मंत्रालय को लिखित में दी है. इसमें कहा गया कि भारत में उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ने की वजह से वहां तैनात पाकिस्तानी राजनयिकों और उनके परिवार का रहना मुश्किल हो गया है. पाकिस्तान ने कहा कि राजनयिकों के परिवार को परेशान किए जाने की घटना को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.


पाकिस्तान ने आरोप लगाया कि पिछले तीन दिनों में पाकिस्तानी राजनयिकों और उनके परिवार को तंग करने की घटनाएं सामने आई हैं. पाकिस्तान के डिप्टी कमिश्नर के बच्चों को स्कूल जाने के दौरान रास्ते में रोक लिया गया और परेशान किया गया. इसके अलावा दिल्ली में घूम रहे पाकिस्तान के सीनियर राजनयिक को परेशान किया गया. पाकिस्तानी सूत्रों का कहना है कि भारत में पाकिस्तान के राजनयिकों के वाहनों को रोका जा रहा है और उनकी तलाशी ली जा रही है.


उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान उच्चायुक्त में काम करने वाले भारतीय कर्मचारियों को भी काम पर आने से रोका जा रहा है. उन्होंने कहा कि वैसे तो पाकिस्तान और भारत के बीच लंबे अरसे से रिश्ते तनावपूर्ण हैं, लेकिन बीजेपी सरकार के सत्ता में आने के बाद ये रिश्ते ज्यादा ही बिगड़ गए हैं. नियंत्रण रेखा (LoC) और सीमा पर गोलीबारी की घटनाओं में इजाफा हुआ है.

UNHRC में भारत ने PAK को लगाई थी लताड़


शुक्रवार को जेनेवा में UNHRC की बैठक में लगातार दूसरे दिन पाकिस्तान द्वारा कश्मीर मुद्दा उठाने पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी. साथ ही पाकिस्तान को विफल देश बताते हुए उसकी जमकर निंदा की थी. भारत ने सख्त लहजे में कहा था कि पाकिस्तान एक विफल देश है और वो भारत को लोकतंत्र का पाठ न पढ़ाए.


भारत ने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवाद खूब फल-फूल रहा है और ओसामा बिन लादेन को वहां सुरक्षा प्राप्त थी. साथ ही भारत ने मुंबई, पठानकोट और उरी आतंकी हमले के अपराधियों को सजा दिलाने की मांग की थी. भारत की इस लताड़ से बुरी तरह तिलमिलाया पाकिस्तान अब नया प्रोपेगेंडा शुरू किया है.