मुंबई कांग्रेस का हाथ छोड़ साल 2015 में बीजेपी में शामिल होने वाले हेमंत बिस्व सरमा ने कहा है कि वे कोशिश करेंगे कि सोनिया-राहुल को छोड़कर हर कांग्रेसी बीजेपी में शामिल हो जाए. बतौर बिस्वा कांग्रेस में रहकर उन्होंने अपने 23 साल बर्बाद कर दिए. उन्होंने बताया कि वे अगर आज भी कहीं किसी कांग्रेसी नेता से मिलते हैं, तो यही समझाते हैं, 'मैंने 23 साल बर्बाद किए. आप मत बर्बाद करें. आकर बीजेपी ज्वाइन कर लें.' असम के वित्त मंत्री हेमंत बिस्व सरमा इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 के विशेष सत्र 'सैफ्रन सर्ज इन दि नॉर्थ ईस्ट- हाउ वी डिड इट' में बोल रहे थे.


अमित शाह-राहुल में अंतर


बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच क्या अंतर है, इस सवाल पर बिस्वा ने कहा कि अमित शाह ने राजनीति में डॉक्टरेट किया है, जबकि राहुल गांधी अभी नर्सरी में हैं. लोगों से मिलने की कला, देश के बारे में विजन, पार्टी कामकाज के लिए मेहनत करने की क्षमता के मापदंड पर अमित शाह के सामने राहुल गांधी की कोई जगह नहीं है.


BJP के साथ आने का कारण


हेमंत से पूछा गया कि उन्होंने कांग्रेस पार्टी क्यों छोड़ी राहुल की वजह से या सीएम न बन पाने के कारण, इस पर हेमंत ने बताया कि उन्होंने राहुल गांधी के कारण कांग्रेस छोड़ दी. वे आज बीजेपी के साथ उसकी आइडियालॉजी की वजह से हैं क्योंकि बीजेपी में मास्टर-सर्वेंट जैसा कल्चर नहीं है.


वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पसंद करने की बात पर हेमंत ने कहा कि कांग्रेस के किसी नेता से पूछिए कि क्या उन्होंने कभी सोनिया गांधी या राहुल गांधी के साथ डिनर पर बातचीत की है. हेमंत ने कहा क्योंकि यह कांग्रेस कल्चर का हिस्सा नहीं है. वहीं बीजेपी में अमित शाह के डायनिंग रूम का दरवाजा खुला रहता है और वह लोगों का खुले मन से स्वागत करते हैं.