मुंबईइंडिया टुडे कॉन्क्लेव के 17वें संस्करण में शामिल होने आई कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी से जब सवाल किया गया कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बतौर इंसान कितना जानती हैं, तो उन्होंने कहा, 'मैं मोदी को नहीं जानती. बतौर प्रधानमंत्री उन्हें संसद में अथवा देश और दुनिया में अलग-अलग कार्यक्रमों में जरूर देखती हूं. लेकिन निजी तौर पर मैं उन्हें नहीं जानती.'


2019 में BJP का जुमला होगा मुद्दा


सोनिया ने कहा कि बीजेपी के सहयोगी दल अब संसद में उनका विरोध कर रहे हैं. टीडीपी, शिवसेना जैसी पार्टियां भी अब उनका विरोध कर रही हैं. 2019 में बीजेपी के बड़े-बड़े वादों पर सवाल होंगे. बीजेपी का जुमला आगामी चुनाव में मुद्दा होगा.


सोनिया का पीएम मोदी पर कटाक्ष


सोनिया ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तारीफ करते हुए कहा कि वाजपेयी संसदीय परंपरा का सम्मान करते थे, लेकिन अब संसदीय नियमों का पालन नहीं हो रहा. संसद में हमें बोलने नहीं दिया जाता. जब इंडिया टुडे ग्रुप के एडिटर इन चीफ अरुण पुरी ने पूछा कि पीएम मोदी के बारे में सोनिया क्या सोचती हैं, तो उन्होंने पीएम मोदी पर कटाक्ष करते हुए कि सारी रामायण तो हो गई, आप सीता के बारे में पूछ रहे हैं. सोनिया ने बीजेपी के अच्छे दिन के वादों पर तंज कसा कि अच्छे दिक का हाल शाइनिंग इंडिया जैसा होगा.


'मोदी की मार्केटिंग ने दी कांग्रेस को मात'


सोनिया ने कहा कि कांग्रेस की लगातार 10 साल तक सरकार रही लिहाजा 2014 में कुछ एंटीइन्कम्बेंसी थी. इसके साथ ही कांग्रेस को नरेंद्र मोदी के सामने मार्केटिंग में मात खानी पड़ी. सोनिया ने कहा कि कांग्रेस को आम आदमी से कनेक्ट करने के लिए नई स्टाइल की जरूरत है. इसके साथ ही कांग्रेस को अपनी नीति को नए तरीके से पेश करने की जरूरत है.