अगरतला, त्रिपुरा त्रिपुरा में 25 साल के लेफ्ट राज को खत्म कर सत्ता पर काबिज होने वाली भारतीय जनता पार्टी की नई सरकार आज शपथ लेगी. जीत के हीरो रहे बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बिप्लब देब मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे, उनके साथ जिष्णु देव वर्मा उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.


शपथ ग्रहण समारोह को काफी भव्य तौर पर किया जा रहा है. शपथ ग्रहण में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के अलावा सभी बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को न्योता दिया गया है. बिप्लब देब की ओर से त्रिपुरा के पूर्व सीएम माणिक सरकार को भी कार्यक्रम में आने के लिए न्योता भेजा गया है.

ये बन सकते हैं मंत्री -

सुदियो रॉय बर्मन - अगरतला


प्रणब देब - उदयपुर


मनोज देब - अमरपुर


संतना चकमा


रतनलाल नाथ - मोहनपुर

बीजेपी ने 60 सदस्यीय विधानसभा में 35 सीटें हासिल कीं वहीं उसकी सहयोगी जनजातीय पार्टी आईपीएफटी ने आठ सीटों पर कब्जा जमाया है. इस तरह वाम गढ़ में दो तिहाई बहुमत से बीजेपी की सरकार बनने जा रही है. माकपा ने 16 सीटें जीती हैं जबकि कांग्रेस अपना खाता खोलने में नाकाम रही. 1 सीट पर चुनाव नहीं हो पाया था.


बीजेपी की जीत के बाद त्रिपुरा में हुई हिंसा


आपको बता दें कि 3 मार्च को आए नतीजों के बाद से ही त्रिपुरा में हिंसा की स्थिति बनी हुई थी. बीजेपी समर्थकों ने साउथ त्रिपुरा डिस्ट्रिक्ट के बेलोनिया सबडिविज़न में बुलडोज़र की मदद से रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति को ढहा दिया गया था.


देश में कई जगह हुई इस प्रकार की घटना


त्रिपुरा के बाद मूर्ति तोड़े जाने की घटना पूरे देश में कई जगहों पर फैली. त्रिपुरा में लेनिन, तमिलनाडु में पेरियार, उत्तर प्रदेश में बाबा साहेब अंबेडकर, पश्चिम बंगाल में श्यामा प्रसाद मुखर्जी, केरल में महात्मा गांधी की मूर्ति को खंडित किया गया.


PM मोदी जता चुके हैं नाराज़गी


मूर्ति तोड़े जाने की घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह चिंता व्यक्त कर चुके हैं. गृह मंत्रालय की ओर से सभी राज्यों को इस प्रकार की घटनाओं से सख्ती से निपटने के आदेश दिए गए हैं.