पाली | आदर्श नगर स्थित सबसे प्राचीन शीतला माता मंदिर में शीतला सप्तमी पर्व को लेकर गुरुवार को मेले का आयोजन किया जाएगा। सप्तमी को लेकर मंदिर परिसर मध्यरात्रि से ही महिलाओं की भीड़ जुटना शुरू हो गई। महिलाओं ने माताजी की पूजा अर्चना कर प्रसादी का भोग लगाया। कलेक्टर ने शीतला सप्तमी पर जिले में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है। इधर, शीतला सप्तमी को लेकर आदर्श नगर में होने वाले मेले की तैयारियां लगभग पूर्ण की जा चुकी है। इसको लेकर नगर परिषद चेयरमैन महेंद्र बोहरा ने तैयारियों का मौका-मुआयना किया। 




चेयरमैन बोहरा ने बताया कि इस बार शीतला सप्तमी के मेले को और अधिक रोचक व मनोरंजनात्मक बनाने के लिए गेर के रूट की विशेष सफाई, पेचवर्क व रंग-रोगन कार्य, सभी दर्शकों के बैठने की उचित व्यवस्था, मंच व्यवस्था, रोशनी व्यवस्था तथा बैरिकेडिंग व सुरक्षा की चाक-चौबंद की व्यवस्था की गई है। साथ ही सुरक्षा की दृष्टि से एलईडी कैमरे भी लगाए गए हैं। सभी सर्कलों एवं फव्वारों पर मल्टीकलर रोशनी से सजाया गया है। मेले की तैयारी को लेकर मेला संयोजक किशोर सोमनानी, मेला सहसंयोजक सुरेश चौधरी, पार्षद मोहनलाल सोलंकी, तारादेवी प्रजापत, तिलोकराम चौधरी, अशोक बाफना, अयूब गुडलक, दीपाराम राव, स्वाति भाटी, पूर्व पार्षद शिवप्रकाश प्रजापत, गणपत मेघवाल, रितेश छाजेड़, पार्षद जितेंद्र व्यास, सुरेश पटेल, मेला अधिकारी एक्सईएन केपी व्यास, मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक लोकेश जैन, कनिष्ठ अभियंता जेवीवीएनएल लोकेश जांगिड़, विद्युत निरीक्षक घनश्याम पुरोहित व कनिष्ठ अभियंता विद्युत प्रमोद प्रजापत समेत कई जने जुटे हुए हैं। 


गायक कलाकार लोकसंगीत व फागोत्सव की देंगे प्रस्तुति 


चेयरमैन बोहरा ने बताया कि शीतला सप्तमी का पूजन एवं गांवशाही गैर के साथ लोकसंगीत व फागोत्सव कार्यक्रम का आयोजन भी होगा, जिसमें गायक कलाकार रमेश माली द्वारा एक से बढ़कर एक भजनों की प्रस्तुतियां देंगे। मेले में आने वाले गेर दलों को नगर परिषद की ओर से स्मृति चिह्न, गुड की भेली, झंडा देकर व साफा, माला पहनाकर सम्मानित किया जाएगा। 


सफाई को लेकर तैनात रहेंगे सफाई कर्मचारी 


मेले में सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान देने को लेकर चेयरमैन बोहरा ने सभी ठेला संचालक, खोमचे व चार्ट वालों को कचरा पात्र रखने की हिदायत दी। साथ ही सफाई कर्मचारियों की टीम को पूरी यूनिफाॅर्म के साथ सफाई व्यवस्था पर नजर रखने एवं डीओसी टीम को बेसहारा गोवंश एवं श्वानों को भी हटाने की कार्रवाई करने के निर्देश दिए।