दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनकी पार्टी के विधायकों द्वारा कथित रूप से मुख्य सचिव के साथ मारपीट करने के मामले में अपनी चुप्पी तोड़ते हुए आज कहा कि वह अड़ियल हो सकते हैं लेकिन हिंसक नहीं। केजरीवाल ने कहा कि सभी अधिकारी एक परिवार हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि हाथापाई वाली लड़ाई कायर लड़ते हैं और उनके खिलाफ लगाये जा रहे ये आरोप बेबुनियाद हैं कि उन्होंने अंशु प्रकाश को रात में अपने घर बैठक के लिए बुलाया था और उनकी पिटाई कराई। उन्होंने कहा, '' केजरीवाल अड़ियल हो सकता है लेकिन वह हिंसक नहीं है। मारपीट में कायर शामिल होते हैं। केजरीवाल कायर नहीं है।


जॉइंट काउंसिल ऑफ ऑल एंप्लॉइज असोसिएशन के बैनर तले कर्मचारी सीएम हाउस आए थे। सीएम ने उनको संबोधित करते हुए कहा कि एक गलत बात को जिस तरह से बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया जा रहा है, वह राजनीतिक साजिश के तहत किया गया है। अगले दिन कर्मचारियों को भड़काया गया और दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की बात सामने आने लगी। इससे इस साजिश का साफ पता चलता है।