जब इंसान का पैशन जुनून बन जाता है तो वह कुछ ऐसा कर गुजरता है कि उसे देखकर लोग कहते हैं OMG! अजब-गजब है मेरा इंडिया.


गुजरात के राजकोट में रहते हैं रिद्धेष व्यास. हैवी पावरफुल बाइक्स लेकर सड़क पर फर्राटे भरना, हवा से बातें करना इनका पैशन है और इसी शौक ने इन्हें बना दिया स्पेशल.


रिद्धेष व्यास ने अपने लिए खुद बनाई फर्राटेदार बाइक. रिद्धेष ने अपनी बाइक को इंटरनेट, मैकेनिक्स और दोस्तों की मदद से बनाया.


रिद्धेष ने बाइक बनाने के लिए साल 2007 से लेकर साल 2015 तक अकेले रिसर्च और डेवलपमेंट का काम किया. जिसका नतीजा है राजकोट की सड़कों पर फर्राटा भरती उनकी RIDD बाइक.जहां बाइक कम्पनियां किसी बाइक को बनाने से पहले रिसर्च में ही 2-3 करोड़ रुपये खर्च कर देती हैं,  वहीं रिद्धेष ने केवल 7 से 8 लाख रुपये में अपनी खुद की बाइक तैयार कर ली.


रिद्धेष की इस सफलता को साल 2016 में लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स ने सलाम किया. लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स में नाम दर्ज कराने वाले रिद्धेष पहले शख्स हैं, जिन्होंने अपने हाथ से बाइक तैयार की है.


इसके साथ ही साल 2016 में ही गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने रिद्धेष को ट्रेंड सेटर अवार्ड से भी सम्मानित किया.