नई दिल्ली । नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के बाद सीबीआइ ने दिल्ली की एक हीरा निर्यातक कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस कंपनी पर ओरिएंटल बैंक ऑफ कामर्स से 389.85 करोड़ रुपये की ऋण धोखाधड़ी करने का आरोप है।


सीबीआइ ने द्वारका दास सेठ इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ इस कथित धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। सार्वजनिक क्षेत्र के ओरिएंटल बैंक ऑफ कामर्स ने छह महीने पहले सीबीआइ से शिकायत की थी। उसी पर कार्रवाई करते हुए जांच एजेंसी ने कंपनी और उसके सभी निदेशकों सभ्य सेठ, रीटा सेठ, कृष्ण कुमार सिंह, रवि सिंह तथा एक अन्य कंपनी द्वारका दास सेठ सेज इनकारपोरेशन के खिलाफ मामला दर्ज किया है।


कंपनी ने 2007 से 2012 के दौरान ओरिएंटल बैंक ऑफ कामर्स से विभिन्न क्रेडिट सुविधाएं लीं। इस दौरान यह क्रेडिट राशि 389 करोड़ रुपये तक पहुंच गई। बैंक ने अपनी शिकायत में कहा है कि कंपनी सोना और अन्य बेशकीमती जवाहरात खरीदने को अन्य लेनदारों को भुगतान करने के लिए लेटर्स ऑफ क्रेडिट (एलओसी) का इस्तेमाल कर रही थी तथा फर्जी लेनदेन के सहारे देश के बाहर सोना और धन भेज रही थी। सीबीआइ की एफआइआर में भी यह बात दर्ज है। यह कंपनी अब मुखौटा कंपनियों के नाम पर भी व्यापारिक लेन-देन में लिप्त पाई गई है।